Sun. Aug 18th, 2019

आगरा के छात्रों ने मिलकर बनाई बोरवेल से बच्चों को निकालने की मशीन

आगरा। आज कल देश में बोरवेल में बच्चों के गिरने की कई घटनाएं सामने आ रहीं हैं । इस तरह की घटना के वक्त राहत कार्य में संसाधनों की कमी भी हमारे सामने बड़ी चुनौती बनकर खड़ी हो जाती है। बोरवेल से बच्चों को निकालने के लिए देश मे कोई विशेष उपकरण नहीं हैं। ऐसे में किसी बच्चे को बोरवेल से निकलने में काफी समय भी लग जाता है। आगरा के आरबीएस इंजीनियरिंग टेक्निकल कैंपस, बिचपुरी के कुछ होनहार छात्रों ने बोरवेल से बच्चों को निकालने के लिए एक ऐसी ही मशीन का प्रोटोटाइप तैयार कर लिया है।आरबीएस इंजीनियरिंग टेक्निकल संस्थान के इलेक्ट्रॉनिक्स एंड कम्युनिकेशन विभाग के चतुर्थ वर्ष के छात्र हितेश सिंघल, शुभम त्यागी, शोभित यादव, विशालदीप पाठक ने मिलकर प्रोटोटाइप तैयार किया है। मीडिया समन्वयक डॉ. आशीष शुक्ला ने हमें बताया कि इस मशीन में एडजस्टेबल आर्म्स, डिजिटल इंटीग्रेटेड कैमरा, ऑडियो कम्युनिकेशन, ऑक्सीजन सप्लाई, रस्सी और पुली ड्राइव आदि लगाई गई है।

इसका आकार सामान्य बोरवेल से थोड़ा सा छोटा है। जिससे यह मशीन किसी भी बोरवेल में आसानी से उतारी जा सकती है। बच्चे को एडजस्टेबल आर्म्स से पकड़कर पुली व रस्सी की मदद से ऊपर की ओर खींचा जा सकता है। बच्चे को देखने और उसे पकड़ने के लिए मशीन में लाइट और डिजिटल कैमरा भी है।

अभी मॉडल को और विकसित किया जाएगा

कॉलेज के विभागाध्यक्ष डॉ. दुष्यंत सिंह का कहना है कि यह तो अभी मात्र प्रोटोटाइप है। इसे अभी और विकसित करने की आवश्यकता है। इसे विकसित करके व्यावसायिक रूप से बाजार में भी उपलब्ध कराया जाएगा। संस्थान के निदेशक अकादमिक डॉ. बीएस कुशवाह, निदेशक वित्त एवं प्रशासनिक डॉ. पंकज गुप्ता ने प्रोटोटाइप बनाने वाले छात्रों को बधाई दी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *