Mon. Aug 19th, 2019

बीजेपी नेता पिट रहे और एसपी साहब सो रहे!

बस्ती। अभी तक टोलकर्मियों को पिटते हुए अपने देखा और सुना था लेकिन इस बार दाव उल्टा पड़ गया, टोल कर्मी बीजेपी नेताओं को टोल के विवाद के बाद बुरी तरह से पीट दिया, जिसका वीडियो भी सामने आया है, इस वीडियो में कोतवाली थाना एरिया के पटेल चौक पर बने टोल प्लाजा पर भाजपा युवा मोर्चा के जिला अध्यक्ष शिवांशु मिश्रा और अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के प्रदेश संगठन मंत्री नागेंद्र बहादुर व जिला मंत्री भूपेंद्र सिंह को लाठी डंडे से 20 से अधिक टोल कर्मी दौड़ाकर पीट रहे है, इस मामले में पुलिस ने दो टोल कर्मियों को हिरासत में लिया है, देर रात तक पुलिस की तरफ से अभी मुकदमा नही दर्ज किया गया था,

ये पूरा मामला उस वक़्त तूल पकड़ लिया जब शहर से निकलकर बीजेपी और एबीवीपी के नेता कार से टोल पहुचे, आरोप है कि टोल नाके पर लोकल बताने और लोकल की आईडी कार्ड देने के बाद भी टोल वाले पर्ची काटने पर अड़ गए, दोनों तरफ से जमकर तूतू मैंमैं हुई और यह लड़ाई देखते ही देखते जंग के मैदान में तब्दील हो गयी, टोल कर्मचारी कार से निकलने के बाद बीजेपी और एबीवीपी नेताओं को पीटना शुरू कर दिया, भाजपाइयों पर एक साथ 20 से अधिक टोल कर्मचारी लाठी डंडे के साथ टूट पड़े, बीजेपी नेताओं को दौड़ा दौड़ाकर पीटा गया, भाजपाई किसी तरह मौके से भागकर अपनी जान बचाई, घटना की सूचना के तत्काल बाद पुलिस मौके पर पहुची और छानबीन शुरू की, टोल कर्मी की गुंडागर्दी से नाराज बीजेपी नेता काफी देर तक टोल पर जमे रहे, आक्रोशित भाजपा नेताओं ने टोल पर ईटबाजी की, पुलिस ने किसी तरह मामला शांत कराने के बाद घायल बीजेपी नेताओं को जिला अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया, जहा काफी संख्या में एबीवीपी के नेता और बीजेपी युवा मोर्चा के नेता जमे रहे,

टोल प्लाजा पर टोल कर्मियों की गुंडई देखने के बाद पुलिस भी सख्त हो गयी है, सत्ता दल के नेताओ को सरेआम पिटाई करने वाले टोल कर्मीयो का मनोबल इस कदर बढ़ा हुआ था की वो 3 से 4 नेताओ पर 20 से 30 की संख्या में बुरी तरह टूट पड़े और उन्हें जमकर पीटा, अब इस मामले को जिले के एसपी पंकज कुमार पूरी तरह से अनजान नजर आए, उनसे जब हमारे संवाददाता ने बात करने के लिए फ़ोन किया तो उनका कहना था कि मैं बिजी हु, अब जिले में हालात इस कदर खराब है कि सत्ता रूढ़ के नेता पीटे जा रहे और एसपी साहब बिजी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *