Sun. Aug 18th, 2019

भारत के धमकी का नहीं हुआ असर, राष्ट्रमंडल खेलों में निशानेबाजी नहीं होगी शामिल

बर्मिंघम शहर में वर्ष 2022 में होने वाले राष्ट्रमंडल के खेलों में निशानेबाजी को शामिल नहीं किए जाने के फैसले पर फेडरेशन अभी भी कायम है । राष्ट्रमंडल खेलों में निशानेबाज़ी शामिल नहीं करने पर भारत के बहिष्कार की धमकी के बावजूद भी फेडरेशन की प्रमुख लुइस मार्टिन ने एक बार फिर से साफ किया कि 2022 में निशानेबाजी राष्ट्रमंडल खेलों का हिस्सा नहीं होगी।
मार्टिन ने कहा कि 1974 के बाद फिर से निशानेबाजी को बाहर करने का फैसला लॉजिस्टिक्स की दिक्कतों को देखते हुए किया गया है।

आपको बता दें कि भारत के लिहाज से निशानेबाजी शुरू से ही भारत का मुख्य खेल रहा है, जिसमें उसे हमेशा सबसे ज्यादा पदक भी मिलते रहे हैं। गोल्ड कोस्ट में हुए राष्ट्रमंडल खेलों में भी भारत ने कुल 66 पदक जीते थे जिसमें 16 पदक सिर्फ निशानेबाजी से थे और उसमें भी 7 स्वर्ण पदक शामिल थे।

यही कारण है कि भारतीय ओलंपिक संघ के अध्यक्ष नरेंद्र बत्रा ने बर्मिंघम राष्ट्रमंडल खेलों से भारत के बहिष्कार की बात की है। इसके लिए उन्होंने पिछले महीने खेल मंत्री किरेन रिजिजू से भी इस बारे में बात की थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *