घर-घर बांटा जाए ओआरएस : स्वाति सिंह

लखनऊ, 29 जून :  उत्तर प्रदेश सरकार ने नवजात बच्चों को दस्त की बीमारी से बचाने के लिए स्वास्थ्य विभाग को घर-घर जाकर ओआरएस घोल और जिंक का वितरण करने के निर्देश दिए हैं। उप्र की मातृ एवं शिशु कल्याण राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) स्वाति सिंह ने बुधवार को कहा कि जनपद के समस्त चिकित्सालयों, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों, उपकेंद्रों एवं आंगनबाड़ी केंद्रों पर, जन समुदाय में घर-घर जाकर ओआरएस घोल तथा जिंक के प्रयोग को बढ़ावा देने के लिए इसका वितरण किया जाए।Image result for swati singh

उन्होंने राजधानी के गोलागंज स्थित वीरांगना अवंती बाई महिला चिकित्सालय में 0 से 5 वर्ष तक के बच्चों में दस्त रोगों से बचाव के लिए दस्त नियत्रंण पखवाड़ा कार्यक्रम में कहा कि पखवाड़े में आशाएं घर-घर जाकर 0 से 5 वर्ष तक के बच्चों वाले घरों में ओआरएस तथा जिंक का वितरण करें। इसके साथ ही ओआरएस के प्रयोग तथा उसको तैयार करने की विधि का प्रदर्शन कर लोगों को बताएं।

उन्होंने वर्ष 2017-18 को दस्त रोगों से जीरो मृत्यु करने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए।

महानिदेशक परिवार कल्याण डॉ. नीना गुप्ता ने बताया कि पखवाड़ा कार्यक्रम पूरे प्रदेश में चलाया जा रहा है। सभी जनपदों में ओआरएस तथा जिंक पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध है। विगत वर्ष की उपलब्धियों की अपेक्षा इस वर्ष अधिक उपलब्धि प्राप्त करने का लक्ष्य रखा गया है। सभी 0 से पांच 5 तक के बच्चों के घरों में ओआरएस की उपलब्धता सुनिश्चित की जाएगी।