मानवता विरोधी अपराधों में लिप्त या उनमें मदद देने वालों या उनका षड्यंत्र रचने वालों को दंडित किया जाना चाहिए।

उपराष्‍ट्रपति श्री हामिद अंसारी ने जम्‍मू-कश्‍मीर में अमरनाथ तीर्थयात्रा पर आतंकी हमले की कड़ी निंदा की है। एक संदेश में उन्‍होंने कहा कि हिंसा के ऐसे जघन्‍य कार्य किसी भी सूरत में सहन नहीं किए जा सकते और ऐसे मानवता विरोधी अपराधों में लिप्त या उनमें मदद देने वालों या उनका षड्यंत्र रचने वालों को दंडित किया जाना चाहिए।

उपराष्‍ट्रपति के संदेश का मूल पाठ इस प्रकार है :

“जम्‍मू-कश्‍मीर में अमरनाथ तीर्थयात्रा पर आतंकी हमले की खबर सुन कर मुझे_96880124_epa_elv_2 गहरा आघात पहुंचा है, जिसमें तीर्थ यात्रियों की जानें गई हैं और कई लोग घायल हुए हैं। हिंसा की ऐसी निरर्थक घटनाओं का कोई औचित्‍य नहीं है और ऐसी वारदातों का षड्यंत्र रचने वालों या उनमें मदद पहुंचाने वालों को, इस मानवता विरोधी अपराध के लिए दंडित किया जाना चाहिए।

भारत की आत्‍मा पर किए जाने वाले ऐसे हमलों का सामना करने के लिए हम एकजुट हैं। मैं शोक संतप्त परिवारों के प्रति गहन संवेदना व्‍यक्‍त करता हूं। मैं पूरे राष्‍ट्र के साथ दुआ करता हूं कि दिवंगत आत्माओं को शांति मिले और घायल लोग शीघ्र स्‍वस्‍थ हों।”