सीमा पर होगा बुनियादी ढांचा विकासः- राजनाथ सिंह

लखनऊ, 5 सितम्बर (बचपन एक्सप्रेस) : केन्द्र सरकार अंतर्राष्ट्रीय सीमावर्ती इलाकों में बुनियादी ढांचा विकास को सर्वोच्च प्राथमिकता देगी। लखनऊ में सशस्त्र सीमा बल -एस.एस.बी. के पृथक पारिवारिक आवास परिसर का उद्घाटन करते हुये केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि भारत-नेपाल और भारत-भूटान जैसी खुली सीमाओं पर सुरक्षा खास चुनौती होती है। उन्होंने कहा कि एस.एस.बी. इस चुनौती का बखूबी मुकाबला कर रहा है। उन्होंने कहा कि भारत-नेपाल सीमा पर बुनियादी ढांचा विकास के लिये जल्द ही उत्तर प्रदेश और बिहार सरकार के अधिकारियों की एक बैठक बुलाई गई है। श्री सिंह ने कहा कि एस.एस.बी. के खुफिया विभाग की मंजूरी दे दी गई है। गृह मंत्री ने कहा कि एस.एस.बी. के मौजूदा 69 बटालियन की संख्या बढाकर 73 कर दी गई है। एस.एस.बी. के जांबाजों के हौसले की तारीफ करते हुये गृह मंत्री ने कहा कि चाहे जाली मुद्रा का सवाल हो या नशीले प्रदार्थो और हथियारों की तस्करी को रोकने का-मानव तस्करीं का मुद्दा हो या प्राकृतिक आपदा के समय जीवन रक्षा का प्रश्न-एस.एस.बी. के जवानों ने हर मोर्चे पर महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। श्री राजनाथ सिंह ने कहा कि सरकार जवानों को आवास मुहैया कराने की बडी योजना पर काम कर रही है। इस मौके पर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री श्री दिनेश शर्मा ने कहा कि जब सरकार संवेदनशील होती है तो बडा अवसर होता है। श्री शर्मा ने कहा कि केन्द्र की संवेदनशील सरकार देश की रक्षा में लगे जवानों और उनके परिजनों के कल्याण के लिये महत्वपूर्ण काम कर रही है। इससे पहले गृह मंत्री ने साढे बयासी करोड़ रुपये की लागत से बने एस.एस.बी. के 415 पृथक पारिवारिक आवासों का उद्घाटन किया और इस मौके पर लगाई गई प्रदर्शनी का अवलोकन किया। इस मौके पर प्रदेश के कैबिनट मंत्री श्री बृजेश पाठक, लखनऊ के आयुक्त अनिल गर्ग और एस.एस.बी. की महानिदेशक एस.एस.पी. अर्चना रामामसुंदरम सहित बडी संख्या में अधिकारीगण मौजूद रहे।