रखाइन में 36 लोग मारे गए, 371 आतंकियों के शव बरामद

यांगून, 6 सितम्बर (बचपन एक्सप्रेस): म्यांमार सरकार की सूचना समिति ने बुधवार को बताया कि देश के उत्तरी रखाइन में 25 अगस्त से जारी आतंकवादी हमलों की वजह से जातीय समूहों के कुल 26,747 लोगों को उनके घरों से निकालकर सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया। समिति के बयान में कहा गया है कि 25 अगस्त से 5 सितंबर तक अराकन रोहिंग्या साल्वेशन आर्मी (एआरएसए) द्वारा किए गए 97 आतंकवादी हमलों में 13 सुरक्षा बल के सदस्य, दो सरकारी सेवा कर्मी और जातीय समूह के 21 लोग लोग मारे गए और 22 अन्य घायल हुए। कम से कम 371 आतंकवादियों के शव बरामद किए गए हैं।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने समिति के हवाले से बताया, ‘कट्टरवादी आतंकवादियों’ ने कुल 59 गांवों और 6,842 घरों को जला दिया व आठ पुलों को विस्फोटकों से उड़ा दिया गया।
Border Guard Bangladesh personel detain a suspected Myanmar citizen (C), who is suspected by Rohingya escapees of spying for Myanmar, at a refugee camp in Teknaf in southern Cox's Bazar district on November 24, 2016. Dhaka has called on Myanmar to take 'urgent measures' to protect its Rohingya minority after thousands crossed into Bangladesh in just a few days, some saying the military was burning villages and raping young girls.
रिपोर्ट के अनुसार, करीब 371 आतंकवादियों के शव बरामद किए गए हैं।

सूचना समिति ने कहा कि सुरक्षा बल और नागरिकों की निकासी कर रहे हैं और उन्हें चिकित्सीय सहायता उपलब्ध करा रहे हैं।

इसी बीच म्यांमार के अधिकारियों ने पूरे देश में शांति और स्थिरता बनाए रखने के प्रयासों में सरकार के साथ सहयोग करने का आग्रह किया है।

–आईएएनएस