सभी अप्रशिक्षित शिक्षकों को मार्च, 2019 तक प्रशिक्षित किया जाएगा : श्री प्रकाश जावड़ेकर

नई दिल्ली, 4 सितम्बर 2017 (बचपन एक्सप्रेस) : केन्द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री श्री प्रकाश जावड़ेकर ने नई दिल्ली में सेवाकालीन अप्रशिक्षित शिक्षकों को प्रशिक्षण हेतु नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ ओपन स्कूलिंग (एनआईओएस) के एक उत्कृष्ट कार्यक्रम प्रारंभिक शिक्षा में डिप्लोमा (डी.एल.एड) की शुरुआत की। यह शिक्षक प्रशिक्षण कार्यक्रम सभी सरकारी/सरकारी सहायता प्राप्त/निजी सहायता रहित मान्यता प्राप्त प्राथमिक स्कूलों के समस्‍त सेवाकालीन अप्रशिक्षित शिक्षकों के लिए तैयार किया गया है। अब तक लगभग 15 लाख शिक्षकों को नामांकित किया गया है।

यह शिक्षकों की प्रोफेशनल दक्षता बेहतर करने और सूचना एवं संचार आधारित क्षमता निर्माण सुनिश्चित करने के लिए नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ ओपन स्कूलिंग (एनआईओएस) के ऑनलाइन और दूरस्थ शिक्षा (ओडीएल) मोड में एक पहल है। गुणवत्ता बढ़ाने के उद्देश्य से एनआईओएस देश भर में फैले सरकारी/सरकारी सहायता प्राप्त/निजी सहायता रहित मान्यता प्राप्त स्कूलों के सेवाकालीन शिक्षकों के प्रशिक्षण पहलुओं के तहत उनकी गुणवत्ता और उत्कृष्टता पर अपना ध्यान केंद्रित करता रहा है।

इस अवसर पर श्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि सभी अप्रशिक्षित शिक्षकों को मार्च, 2019 तक प्रशिक्षित किया जाएगा। शिक्षक और गुणवत्तापूर्ण शिक्षा छात्रों के अधिकार हैं। उन्होंने यह भी कहा कि सरकार शिक्षा प्रणाली में सुधार के लिए प्रतिबद्ध है और सरकार 31 मार्च 2019 तक लगभग 15 लाख अप्रशिक्षित शिक्षकों को प्रशिक्षण देगी और पाठ्यक्रम के सफल समापन के बाद शिक्षकों को डिप्लोमा मिलेगा। उन्होंने यह भी बताया कि ‘स्‍वयं’ की शुरुआत के बाद पहले वर्ष में हमने ऑनलाइन प्रशिक्षण में विश्व रिकॉर्ड बनाया है। उन्होंने स्पष्ट रूप से कहा है कि 31 मार्च, 2019 के बाद इस प्रशिक्षण कार्यक्रम की अवधि का कोई और विस्तार नहीं किया जाएगा।

श्री उपेंद्र कुशवाहा, मानव संसाधन विकास राज्य मंत्री (स्कूली शिक्षा और साक्षरता) ने गुणवत्ता, नवाचार और अनुसंधान के संबंध में शैक्षिक आवश्यकता में नई गतिशीलता लाने की दिशा में श्री प्रकाश जावड़ेकर के ईमानदार प्रयासों की सराहना की, जिसका लक्ष्‍य लोगों को बेहतर कौशल और ज्ञान से युक्‍त करके भारत को एक ‘नॉलेज सुपर पावर’ बनाना है। उन्होंने शिक्षकों की गुणवत्ता बेहतर करने के उद्देश्य के लिए एनआईओएस को भी बधाई दी।

pib