लखनऊ यूनिवर्सिटी पेपर लीक कांड में हुआ बड़ा बवाल

लखनऊ यूनिवर्सिटी पेपर लीक कांड में हुआ बड़ा बवाल

लखनऊ यूनिवर्सिटी में विधि का पेपर लीक होने की सूचना के बाद पूरा लखनऊ विश्वविद्यालय अखाड़े में तब्दील हो गया है और हर तरफ गुटबाजी का जोर है कोई मानने को तैयार नहीं है।नए वॉइस चांसलर जहां अभी आने बाकी हैं वहीं कुलपति की जिम्मेदारी संभाल रहे एसके शुक्ला के लिए एक बहुत बड़ी चुनौती है किस पेपर लीक कांड में उनका भी नाम कहीं ना कहीं से जुड़ रहा है।

हालांकि डॉक्टर एस के शुक्ला ने बताया है कि एक षड्यंत्र के तहत किया जा रहा है और उस षड्यंत्र में कई ऐसे लोग हैं जो उन्हें कुलपति पद पर देखना नहीं चाहते।वास्तविकता यही है लखनऊ विश्वविद्यालय में कई और प्रोफेसर शुक्ला एक दूसरी जाति के प्रोफेसरों के गुटका शिकार भी हो सकते हैं कहा तो यह भी जा रहा है कि इन लोगों को फंसाने की साजिश है।

जब कोई व्यक्ति बातचीत करता है तो फोन रिकॉर्ड करने का जरिया सिर्फ फोन करने वाला और फोन रिसीव करने वाला होता है यहां पर ऑडियो को किसने मीडिया में और लोगों तक पहुंचाया इस बिंदु पर भी गौर करने की जरूरत है कि कहीं यह सोची-समझी साजिश के तहत तो नहीं किया गया है।

हालांकि बातचीत से यह बात स्पष्ट दिखाई दे रही है कि कुछ लोग इसमें शामिल थे और नैतिक मूल्यों को ताक पर रखकर उन्होंने किसी को फायदा पहुंचाने का प्रयास किया है पर अपने जीवन की जमा पूंजी को इस तरह लुटा देना कहीं से भी जायज दिखाई नहीं दे रहा है ऐसा वही व्यक्ति कर सकता है जिससे बहुत बड़ा फायदा हो पर यहां इस तरह की कोई भी चीज दिखाई नहीं दे रही है।

अगर उस लड़की ने जिसने पेपर मिलने की जानकारी दी है उसने लिख किया है ऑडियो तो यह साजिश हो सकती है जिसमें पेपर जाने के बहाने से किसी को सत्ता से दूर ले जाने का प्रयास भी हो सकता है।

Next Story
Share it