Top

मोहनलाल गंज में भारतीय जनता पार्टी की जीत का राज | भाजपा नहीं संघ का कमाल

मोहनलाल गंज में  भारतीय जनता पार्टी की जीत का राज | भाजपा  नहीं संघ का  कमाल

बचपन एक्सप्रेस अपने नयी पहल के तहत लाएगा उत्त्तर प्रदेश और देश में भाजपा की जीत और विपक्ष की हार का विश्लेषण | इसके तहत आज जाने मोहनलाल गंज में क्या हुआ |

स्रोत : चुनाव आयोग

1Kaushal KishoreBharatiya Janata Party627223277662999949.62
2R. K. ChaudharyIndian National Congress59640429600694.73
3C. L. VermaBahujan Samaj Party537448234753979542.52
4Ganesh RawatPragatishil Samajwadi Party (Lohia)79552179760.63
5Jagdish Prasad GautamManavtawadi Samaj Party1441214430.11
6Radha AmbedkarPeoples Party of India (Democratic)1220012200.1
7Ram Sagar PaasiSamdarshi Samaj Party1510515150.12
8Shatrohan Lal RawatLok Dal2632426360.21
9Sushil KumarAadarsh Sangram Party4283042830.34
10Jagdish RawatIndependent3062230640.24
11Prabhawati DeviIndependent4332343350.34
12Ramesh KumarIndependent2464024640.19
13NOTANone of the Above1072669107950.85
Total126393656581269594

126393656581269594

मोहनलाल गंज में कुल बारह लाख उनहत्तर हजार पांच सौ चौरानबे वोट पड़े | इसमें पोस्टल वैलेट की संख्या पांच हजार छह सौ अड़तीस है |मोहनलालगंज में कुल वोटर संख्या है अठारह लाख अड़तीस हजार एक सौ चौरानबे |भाजपा के कौशल किशोर और बसपा के सी एल वर्मा के बीच जीत और हार का अंतर् था ८९७७५ वोट | यानि कुल वोट के तक़रीबन पांच प्रतिशत से कम वोट से बसपा प्रत्यासी हार गया | इस हार में कांग्रेस जिसे ५९६४० मत मिले थे प्रसपा यानि शिवपाल यादव का प्रत्याशी जिसे ७९५५ मत और तीसरे नंबर पर रहने वाला नोटा - १०७२६ मत प्राप्त हुआ | अगर इन तीनो को मिला दे तो कुल ७८३२१ मत हो गए | और अगर ये मत बसपा प्रत्या को मिल जाते तो कौशल किशोर की जीत का अंतर मात्र ११४५४ मत होते जो कुल मत का पॉइंट फाइव से कुछ ज्यादा होगा |

भाजपा की जीत में कुछ निर्दल प्रत्याशियों का भी योगदान है जिन्होंने बसपा को हराने में अपना योगदान दिया है | प्रभावती देवी ने ४३३२ वोट पाए वही सुशील कुमार ने ४२८३ और जगदीश रावत

ने ३०६२ वोट झटक लिए | इन तीनो का वोट ११६७७ है |अगर ये दलित और पिछड़े
वोट न बटते तो भाजपा की हार हो जाती |

इस बार के कौशल किशोर की जीत में राष्ट्रीय स्वयम सेवक संघ की शाखाओ की भी महत्वपूर्ण भूमिका रही है | संघ के कर्मठ कार्यकर्त्ता जो अपनी पूरी निष्ठा से घर -घर जाकर लोगो से कड़ी धूप में पिछले पांच वर्षो के दौरान मिलते थे , उन्होंने कौशल किशोर के पक्ष में लोगो को वोट करने के लिए प्रेरित किया | संघ कार्यकर्ताओ ने कौशल किशोर की कमियों को अपने संपर्क से ढक दिया | सरोजनी नगर में बैठकों का लगातार किया जाना कौशल किशोर के जीत की वजह बना | साउथ सिटी में पिछले पांच वर्षो में संघ की कई नयी शाखा लगने लगी है | संघ के शाखाओ में पहले जंहा सिर्फ उम्रदराज या रिटायर्ड लोग दिखाई पड़ते थे अब वही युवाओ के बीच भी संघ लोकप्रिय हो रहा है |

संघ के लोकप्रियता के पीछे जहा एक और प्रधानमंत्री की की नीतिया है वही संघ में योग शिक्षा के कारण भी युवा खींचा चला आ रहा है | कांग्रेस में कभी सेवादल काफी प्रभावी हुआ करता था पर अब वो मृत हो चुका है | सत्ता के नजदीक होकर भी सत्ता से दूरी बनाये रख पाना कठिन कार्य है पर संघ ने इसे भी संभव कर दिखाया | संघ के लोग सदैव देश हित में बात करने वाले , सादा जीवन जीने वाले लोग है | इस के कारण जनता में इन्हे जगह मिल जाती है | परिवार का हिस्सा बन संघ भावना को देशहित में बदलने का कार्य करता है |

अब इनकी तुलना अगर सपा के कार्यकर्त्ता से करे तो लोग देखते है की बड़ी - बड़ी गाड़ियों में सवार वो लोग है जिन्हे न बात करने का सलीका और न ही किसी की इज्जत करते दिखाई पड़ेंगे | इनमे ज्यादातर वो युवा है जिसकी सभ्य समाज में कोई पूछ नहीं है | कुछ जरूर अच्छे है पर वो इन धनी और प्रभावशाली जमात से पीछे हो जाते है | अखिलेश की अच्छी छवि को मटियामेट करने में इनकी भी भूमिका रही है

भाजपा को भेद पाने के लिए विपक्ष को पहले एक ऐसा संगठन खड़ा करना होगा जो अपने स्वयम
के हित से पहले पार्टी और संग़ठन के इतर देशहित में खड़ा हो सके अन्यथा अगले पांच साल बाद भी सत्ता में आने का ख़याल छोड़ दे |

Next Story
Share it