Top

मनीलॉन्ड्रिंग मामले में कार्रवाई, ICICI बैंक की पूर्व CEO चंदा कोचर के पति गिरफ्तार....

मनीलॉन्ड्रिंग मामले में कार्रवाई, ICICI बैंक की पूर्व CEO चंदा कोचर के पति गिरफ्तार....


प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने धनशोधन से जुड़े एक मामले में आईसीआईसीआई बैंक की पूर्व मुख्य कार्यकारी अधिकारी चंदा कोचर के पति दीपक कोचर को गिरफ्तार कर लिया है। बैंक और वीडियोकॉन ग्रुप के बीच हुई डील को लेकर यह गिरफ्तारी की गई है। दीपक कोचर से सोमवार दोपहर से इस मामले में पूछताछ की जा रही थी, बाद में रात में उन्‍हें अरेस्‍ट कर लिया गया। गौरतलब है कि जांच एजेंसी ने पिछले साल की शुरुआत में चंदा कोचर, उनके पति दीपक और वीडियोकॉन ग्रुप के वेणुगोपाल धूत के खिलाफ प्रिवेंंशन ऑफ मनी लांडरिंग एक्‍ट के अंतर्गत आपराधिक मामला दर्ज किया था।

दीपक कोचर की यह गिरफ्तारी ईडी ने वीडियोकॉन ग्रुप के प्रमुख वेणुगोपाल धूत को आईसीआईसीआई बैंक की ओर से 3250 करोड़ रुपये का लोन दिए जाने के मामले में की है। इस मामले में यह पहली बड़ी गिरफ्तारी है। ईडी आईसीआईसीआई बैंक द्वारा वीडियोकॉन समूह को दिए गये ऋण मामले में अनियमितता और मनी लॉन्ड्रिंग मामले में चंदा कोचर, उनके पति दीपक कोचर और कई अन्य के खिलाफ जांच कर रही थी। कुछ दिन पहले ही दूत समेत चंदा कोचर और उनके पति के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी किया गया था। इस मामले में चंदा कोचर के देवर से भी पूछताछ हुई थी।

क्या है मामला?

आरोप है कि विडियोकॉन ग्रुप के चेयरमैन वेणुगोपाल धूत ने 2010 में 64 करोड़ रुपये न्यूपावर रीन्यूएबल्स प्राइवेट लिमिटेड (NRPL) को दिए थे। इस कंपनी को धूत ने दीपक कोचर और दो अन्य रिश्तेदारों के साथ मिलकर खड़ा किया था। आरोप है कि चंदा कोचर के पति दीपक कोचर समेत उनके परिवार के सदस्यों को कर्ज पाने वालों की तरफ से वित्तीय फायदे पहुंचाए गए। आरोप है कि आईसीआईसीआई बैंक से लोन मिलने के 6 महीने बाद धूत ने कंपनी का स्वामित्व दीपक कोचर के एक ट्रस्ट को 9 लाख रुपये में ट्रांसफर कर दिया।

अराधना मौर्या

Next Story
Share it