भारत की सबसे ज्यादा बिकने वाली कार': मारुति सुजुकी ने 23 साल में बेची 45 लाख से ज्यादा ऑल्टो कारें

  • whatsapp
  • Telegram
  • koo
भारत की सबसे ज्यादा बिकने वाली कार: मारुति सुजुकी ने 23 साल में बेची 45 लाख से ज्यादा ऑल्टो कारें


मारुति सुजुकी ने घोषणा की है कि उसका ऑल्टो ब्रांड भारतीय ऑटोमोबाइल उद्योग में एक ऐतिहासिक मील के पत्थर पर पहुंच गया है। मारुति सुजुकी का दावा है कि पिछले 23 वर्षों में 45 लाख से अधिक इकाइयों की बिक्री के साथ ऑल्टो सबसे अधिक बिकने वाली कार बन गई है।

एंट्री-लेवल हैचबैक सेगमेंट में ऑल्टो ब्रांड के कई मॉडल हैं। पहली ऑल्टो साल 2000 में लॉन्च हुई थी और साल 2004 से इसने लोकप्रियता हासिल करनी शुरू कर दी थी। ऑल्टो लाइन-अप ने एंट्री-लेवल में इलेक्ट्रॉनिक पावर स्टीयरिंग, फ्रंट पावर विंडो, ऑटो गियर शिफ्ट (एजीएस) विकल्प, डुअल एयरबैग, एंटी-लॉक ब्रेकिंग सिस्टम (एबीएस) और फैक्ट्री-फिटेड सीएनजी सिस्टम जैसी सुविधाएं भी पेश की हैं।

मारुति सुजुकी इंडिया लिमिटेड के वरिष्ठ कार्यकारी अधिकारी, विपणन एवं बिक्री, शशांक श्रीवास्तव ने इस महत्वपूर्ण उपलब्धि को हासिल करने के लिए आभार व्यक्त किया। उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि ऑल्टो ने ग्राहकों के साथ एक मजबूत भावनात्मक संबंध स्थापित किया है और वर्षों से अटूट समर्थन और विश्वास हासिल किया है। 45 लाख ग्राहकों की उपलब्धि बाजार में ब्रांड की लोकप्रियता और प्रभुत्व का प्रमाण है।

श्रीवास्तव ने कहा, "ऑटोमोटिव उद्योग में ऑल्टो ने लगातार मानक ऊपर उठाया है, जिससे यह भारत की पसंदीदा कार बन गई है।" उन्होंने भारत में युवा जनसांख्यिकीय और बढ़ती आय के स्तर को देखते हुए ऑल्टो जैसी कारों की संभावनाओं पर भी प्रकाश डाला। उन्होंने दावा किया कि मारुति सुजुकी ब्रांड की विरासत को आगे बढ़ाती रहेगी।

ऑल्टो K10, ऑल्टो परिवार का सबसे नया सदस्य है और मारुति सुजुकी का लक्ष्य एंट्री-लेवल हैचबैक सेगमेंट में स्टाइल, इंटीरियर स्पेस और आराम को बढ़ाना है। कंपनी किफायती मूल्य और उच्च ईंधन दक्षता के साथ युवा ग्राहकों, पहली बार कार खरीदने वालों को लक्षित करना जारी रखती है।

ऑल्टो K10 में K-सीरीज़ 1.0L डुअल जेट, डुअल VVT इंजन मिलता है। इसका टर्निंग रेडियस 4.5 मीटर है और यह स्मार्ट कनेक्टिविटी फीचर्स और स्मार्टप्ले स्टूडियो इंफोटेनमेंट सिस्टम भी प्रदान करता है।

Next Story
Share it