सभी एंड्रॉयड फोन को मिलेंगे ये प्रीमियम फीचर्स, जानिए गूगल के मेगा इवेंट की ये बड़ी घोषणाएं

  • whatsapp
  • Telegram
  • koo
सभी एंड्रॉयड फोन को मिलेंगे ये प्रीमियम फीचर्स, जानिए गूगल के मेगा इवेंट की ये बड़ी घोषणाएं

गूगल का एनुअल डेवलपर कॉन्फ्रेंस ‘गूगल I/O 2024’ 14 मई को हुआ। कंपनी के CEO सुंदर पिचई ने इस इवेंट की शुरुआत की। कंपनी ने इस साल कोई नया डिवाइस लॉन्च नहीं किया है बल्कि वह यूजर्स की सुविधा और सुरक्षा को देखते हुए AI फीचर्स पर काम कर रही है।

यह इवेंट आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) पर आधारित रहा। इस इवेंट में गूगल और अल्फाबेट के सीईओ सुंदर पिचाई ने कहा कि दुनिया में 2 अरब से अधिक लोग एआई टूल Gemini का इस्तेमाल कर रहे हैं। इसके अलावा 1.5 मिलियन डेवलपर्स Gemini APIs का इस्तेमाल कर रहे हैं। इस इवेंट में कई ऐसी घोषणाएं हुईं जो एंड्रॉयड यूजर्स के लिए किसी तोहफे से कम नहीं हैं। आइए जानते हैं कि Google I/O 2024 की बड़ी घोषणाओं के बारे में।

AI-पॉवर्ड सर्च (AI-Powered search)

एंड्रॉइड के ‘सर्किल टू सर्च’ फीचर के दायरे को गूगल अब और बढ़ा रहा है। Google के अनुसार, यह सुविधा 100 मिलियन से अधिक डिवाइसों पर उपलब्ध है, और आगे इसे और बढ़ाया जाएगा। पहले इस फीचर के जरिए आप एंड्रॉइड फोन की स्क्रीन पर किसी भी चीज को सर्किल कर गूगल पर सर्च कर सकते थे, पर अब इसके जरिये मैथ-फिजिक्स की प्रॉब्लम्स को हल करने के ट्रिक भी बताए जाएंगे। यह टूल उपयोगकर्ताओं को सेकंड में ‘AI-Powered search’ तक पहुंचाता है।

जेमिनी AI 68 लैंग्वेज को सपोर्ट करेगा

गूगल ने ‘जेमिनी’ को AI सपोर्टर के रूप में पेश किया है जो आपके डिवाइस पर सभी एप्लिकेशन पर काम करता है। AI जेमिनी 1.5 प्रो को डॉक्स, शीट्स, स्लाइड्स, ड्राइव और जीमेल जैसे वर्कस्पेस ऐप्स के दाहिनी तरफ साइडबार में सेट किया गया है। इसकी पहुंच आपकी सारी सेव की गई डिटेल्स तक होगी। जैसे- अगर आप कोई कोई वीडियो देख रहे हैं, तो जेमिनी उस विडियो से संबंधित आपके प्रश्नों का उत्तर दे सकेगा। इसकी शुरुआत साल के अंत तक गूगल पिक्सल के डिवाइस से हो सकती है। गूगल मीट में जेमिनी AI 68 लैंग्वेज को सपोर्ट करेगा। इसके अलावा, गूगल वर्कस्पेस में जेमिनी-पावर्ड फीचर्स मिलेंगे। अल्फाबेट ने गूगल वर्कस्पेस के लिए जेमिनी-पावर्ड साइडबार की घोषणा की है। जेमिनी 1.5 प्रो को अब ग्लोबल लेवल पर डेवलपर्स के लिए अवेलेबल कर दिया गया है।

ऑन-डिवाइस AI (On-Device AI)

गूगल ने यूजर्स की निजी सुरक्षा का ध्यान रखते हुए फोन में सेंसिटिव इनफार्मेशन को बेहतर ढंग से सुरक्षित रखने के लिए ऑन-डिवाइस AI क्षमताओं को भी बढ़ा रहा है। Google ने कहा है कि इससे डेटा प्रोसेसिंग डिवाइस पर स्थानीय रूप से होती है, जिससे सुरक्षा और गोपनीयता बढ़ती है।

रियल-टाइम स्कैम प्रोटेक्शन बचाएगा फ्रॉड से

गूगल अपने करोड़ों यूजर्स के लिए इस समय ऐसे फीचर पर काम कर रहा है जो यूजर्स को संभावित स्कैम के बारे में अलर्ट कर सकता है। रियल-टाइम स्कैम प्रोटेक्शन के तहत आपको फ्रॉड से बचने में मदद मिलेगी। जैसे अगर आपको स्पैम कॉल्स आते है तो आपका डिवाइस आपको रियल टाइम में उस संदिग्ध की पहचान कर आपको इसके लिए सावधान कर सकता है। यानी इस सुविधा से आपको साइबर फ्रॉड से सुरक्षा मिलेगी।

फोटोज के कलेक्शन और स्टोरीज

गूगल सोशल मीडिया के बढ़ते चलन के साथ जबरदस्त सर्विस पेश कर रहा है। अब आपको अपने डिवाइस में जल्दी ही नया फीचर ‘आस्क फोटोज’ मिलेगा। इसमें आप अपने किसी स्पेशल मोमेंट और एक्सपेरिएंस वाली फोटोज को एकसाथ देख सकेंगे। जैसे अगर आप ‘मेरी बेटी की शादी’ ढूंढते हो तो यह फीचर वह जेमिनी का इस्तेमाल करके आपकी बेटी कि शादी की सभी फोटोज खोज कर उसे एक साथ कलेक्ट कर आपके सामने रख देगा।

जेनरेटिव AI वीडियो मॉडल Veo

गूगल ने अपने सबसे एडवांस टेक्स्ट टू वीडियो जेनरेशन मॉडल ‘जनरेटिव AI वीडियो मॉडल Veo’ को पेश किया है। यह HD क्वालिटी में सिनेमेटिक वीडियो बना सकता है। यानी अब आप अपने phone में सिनेमा की क्वालिटी वाले वीडियोज भी बन सकेंगे। इसके लिउए कंपनी ने कई फिल्म मेकर्स और क्रिएटर्स को बुला रही है। गूगल का कहना है है कि यह मॉडल 60 सेकेंड से भी ज्यादा लंबे वीडियो बना सकता है। VEO इतना ज्यादा एडवांस है कि यह एरियल शॉट और टाइमलैप्स जैसे शब्दों को भी समझता है।


Next Story
Share it