Top

तहसील के लेखपाल को मंगलवार को रंगे हाथों किया गिरफ्तार

तहसील के लेखपाल को मंगलवार को रंगे हाथों किया गिरफ्तार


सरोजनीनगर तहसील के एक लेखपाल को विजिलेंस टीम ने 5 हजार रुपये की रिश्वत लेते हुए मंगलवार को रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया। लेखपाल जमीन की वरासत दर्ज करने के एवज में यह रिश्वत ले रहा था। फिलहाल एंटी करप्शन टीम ने उसे गिरफ्तार कर पुलिस के हवाले कर दिया है। जहां उससे पूछताछ की जा रही है। सरोजनीनगर के रामचौरा गांव निवासी संतराम साहू के मुताबिक उसके गांव में मौजूद उसकी जमीन उसके बाबा कुशहर के नाम राजस्व अभिलेखों में दर्ज है। कुशहर की करीब 15 वर्ष पहले मौत हो गई थी।

जिसके बाद खतौनी में कुशहर के बेटे गंगा प्रसाद के नाम जमीन दर्ज होनी थी। लेकिन 2 साल पहले गंगा प्रसाद की भी मौत हो गई और खतौनी में गंगा प्रसाद का नाम नहीं चढ़ सका। इसको लेकर संतराम ने करीब साल भर पहले खतौनी में अपने पिता के नाम जमीन दर्ज कराने के लिए तहसील अधिकारियों से संपर्क किया। लेकिन अधिकारी उसे आए दिन टहलाते रहे। संतराम के मुताबिक करीब 2 माह पहले उसने अपने पिता स्व. गंगा प्रसाद के नाम जमीन की वरासत कराने के लिए प्राथना पत्र देते हुए क्षेत्रीय लेखपाल रमेश कुमार प्रजापति से संपर्क किया।

लेकिन आरोप है कि लेखपाल रमेश कुमार प्रजापति कुछ दिन तो उससे टालमटोल करते रहा, लेकिन बाद में वरासत करने के एवज में संतराम से 15 हजार रुपये की मांग की। इस पर संतराम ने लेखपाल को 10 हजार रुपये देने की बात कही। मगर लेखपाल रमेश कुमार प्रजापति ने 15 हजार रुपये से कम रकम लेने से मना कर दिया। बाद में परेशान होकर पीड़ित संतराम ने 19 फरवरी को इसकी शिकायत विजिलेंस के लखनऊ स्थित कार्यालय में की। संतराम की इस शिकायत का संज्ञान लेते हुए विजिलेंस अधिकारी मंगलवार को सरोजनीनगर तहसील पहुंचे।


Next Story
Share it