गोवा के कोलवा बीच पर हुए सामूहिक बलात्कार पर बोले मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत- माता-पिता नाबालिग बच्चियों पर दें ध्यान

गोवा के कोलवा बीच पर हुए सामूहिक बलात्कार पर बोले मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत- माता-पिता नाबालिग बच्चियों पर दें ध्यान

गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत को कोलवा बीच पर दो नाबालिग लड़कियों के साथ सामूहिक बलात्कार के विषय पर राज्य विधानसभा में टिप्पणी करने के लिए लगातार आलोचनाओं का सामना करना पड़ रहा है। आपको बता दें कि सामूहिक बलात्कार के मामले पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि माता-पिता को ध्यान रखने की जरूरत है कि उनके बच्चे देर रात समुद्र तट पर क्यों थे। सावंत विपक्षी विधायकों के आरोपों का जवाब दे रहे थे, जिन्होंने दो नाबालिग लड़कियों के साथ रेप के बाद गोवा मे कानून-व्यवस्था की स्थिति खराब होने का आरोप लगाया था।


बता दें कि 24 जुलाई की रात को दक्षिण गोवा के लोकप्रिय कोलवा बीच पर दो नाबालिग लड़कियों के साथ सामूहिक बलात्कार की घटना सामने आने के बाद दहशत का माहौल बना हुआ था। जिसके बाद राज्य विधानसभा में टिप्पणी करने को लेकर के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत लगातार विपक्ष द्वारा कटाक्ष की टिप्पणियों के साथ घेरे जा रहे हैं।


आपको बता दें कि टिप्पणी में प्रमोद सावंत ने कहा कि माता-पिता को आत्मनिरीक्षण करने की आवश्यकता है। सिर्फ इसलिए कि बच्चे नहीं सुनते हैं, हम सरकार और पुलिस पर जिम्मेदारी नहीं डाल सकते हैं। उनकी इस टिप्पणी का जवाब देते हुए कांग्रेस के प्रवक्ता अल्टोन ने बोलते हुए कहा कि राज्य में तटीय क्षेत्रों की स्थिति बेहद खराब हो चुकी है। रात में घूमते समय हमें क्यों डरना चाहिए? अपराधियों को जेल में होना चाहिए और कानून का पालन करने वाले नागरिकों को स्वतंत्र रूप से घूमना चाहिए।


बता दे कि अपने बयानों में प्रमोद सावंत ने सदन में कहा कि हम सीधे तौर पर पुलिस को दोष देते हैं, लेकिन मैं यह बताना चाहता हूं कि जो 10 युवक एक पार्टी के लिए समुद्र तट पर गए थे, उनमें से चार पूरी रात समुद्र तट पर रहे और बाकी छह घर चले गए." सावंत ने कहा,वे पूरी रात समुद्र तट पर थे, दो लड़के और दो लड़कियां खासकर नाबालिगों को समुद्र तटों पर रात नहीं बितानी चाहिए।


नेहा शाह


Next Story
Share it