लद्दाख बुद्धिस्ट एसोसिएशन का आरोप- मुस्लिम युवक साजिश के तहत बौद्ध लड़कियों को प्रेम जाल में फांस रहे

जंस्कार में हाल ही में एक बौद्ध युवती की मुस्लिम युवक से जबरन शादी कराने और फिर उसके मतांतरण का मामला तूल पकड़ गया है। जिसके बाद लद्दाख बुद्धिस्ट एसोसिएशन ने उपराज्यपाल आरके माथुर को पत्र लिखा है।

एसोसिएशन ने आरोप लगाया कि लद्दाख में मुस्लिम युवक सुनियोजित साजिश के तहत बौद्ध लड़कियों को बरगला उन्हें अपने प्रेम जाल में फांस कर मतातंरण करा रहे हैं।

एसोसिएशन के संयुक्त सचिव चांग गुंबो ने कहा कि जंस्कार मे लव जिहाद के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। अगर आप बीते छह-सात साल के मामलों को संज्ञान में लें तो आप खुद जान जाएंगे कि यह पहला मामला नहीं है, यह एक सुनियोजित घटनाक्रम है।

उन्होंने कहा कि जंस्कार में एसोसिएशन की स्थानीय शाखा के प्रधान पासंग लवांग ने गत दिनों हमें तथाकथित लव जिहाद मामले की जानकारी दी है। उसके आधार पर हमने उपराज्यपाल को पत्र लिखा है।

पासंग लवांग ने बताया कि कुछ दिन पूर्व पदम (जंस्कार) का मुस्लिम युवक एक स्थानीय बौद्ध लड़की को जबरन अपने साथ ले गया और उसने जबरन शादी कर उसका मतांतरण कर दिया। इस लड़की को छुड़ाने और उसे उसके अभिभावकों के हवाले करने की हमारी मांग है।

पासंग ने कहा कि मुस्लिम युवक ने सलापी गांव की बौद्ध लड़की को अगवा किया है। हमने एफआइआर भी दर्ज कराई है, लेकिन पुलिस ने कथित तौर पर कार्रवाई नहीं की है।

इस तरह की घटनाएं सिर्फ जंस्कार में ही नहीं पूरे लद्दाख में सांप्रदायिक तनाव का कारण बन रही हैं। वहीं अंजुमन मोईन उल इस्लाम जंस्कार के अध्यक्ष गुलाम मेहदी ने कहा कि यह यह दो परिवारों का निजी मामला है। मुस्लिम समुदाय ने बौद्ध समुदाय के साथ मिलकर प्रशासन से इस मामले को जल्द हल करने का आग्रह किया है।

बौद्ध एसोसिएशन ने कहा कि यह पहल मौका नहीं है जब जंस्कार में किसी बौद्ध लड़की को बरगला कर उसका मतातंरण किया गया हो। हमने मुस्लिम समुदाय के संगठनों के साथ यह मामला कई बार उठाया है।

लेकिन वह इस मामले में सहयोग नहीं करते। अगर लव जिहाद के मामलों को नहीं रोका तो लद्दाख में हम लोगों के पास मुस्लिम समुदाय के बहिष्कार के अलावा कोई दूसरा विकल्प नहीं रहेगा।

Next Story
Share it