अंग्रेजी शराब पीने से तीन लोगों की हुई मौत

अंग्रेजी शराब पीने से तीन लोगों की हुई मौत

फर्रुखाबाद। इंपीरियल ब्लू ब्रांड की अंग्रेजी शराब पीने से तीन लोगों की मौत के मामले में देर रात ठेकेदार विनोद कुमार, गोदाम प्रभारी महेश सिंह ,और सेल्समैन श्याम पाल के खिलाफ हत्या की रिपोर्ट दर्ज कराई गई है। मुकदमा मृतक ओमवीर सिंह निवासी छिबरामऊ, कन्नौज के पुत्र विपिन कुमार ने दर्ज कराया है ।

विपिन की ओर से दर्ज कराए गए मुकदमे के अनुसार गुरुवार को वह अपने पिता ओमवीर के साथ अहिमलापुर गांव में जितेंद्र सिंह के घर आए आया था। बहां पर मोनू मिल गया। यहां चारों लोग शराब खरीदने के लिए भरतामऊ में गए। सेल्समैन श्याम पाल से शराब मांगी तो उसने सस्ती शराब दे दी। इसपर कहासुनी होने लगी। तभी महेश सिंह और विनोद कुमार भी आ गए। इनके कहने पर सेल्समैन ने अंदर से शराब लाकर दे दी। शराब लेकर आने के बाद पिता ओमवीर ने अपने दोस्तों के साथ शराब पी और सभी की हालत बिगड़ गई। पुत्र ने आरोप लगाया कि सेल्समैन ने जान से मारने की नियत से शराब में कुछ मिलाकर दिया था।

_________________________

कमिश्नर और एडीजी देर रात से भोर तक घटनास्थल पर रहे

कमिश्नर कानपुर मंडल राजशेखर तथा एडीजी भानु भास्कर देर रात जांच को अहिमलापुर गांव पहुंचे और मृतक के परिजनों से पूछताछ की सभी अधिकारियों ने यह भी पूछा यह लोग शराब कहां से लाए थे तो मृतक के परिजन ने बताया कि यह शराब ठेके से लाई गई थी

आबकारी विभाग के साथ ही सभी अधिकारी इसके भरतामऊ स्थित अंग्रेजी शराब ठेके पर पहुंचे। ठेके पर अफसरों ने सेल्समैन से पूछताछ की। इस दौरान के जिलाधिकारी संजय कुमार सिंह पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार मीणा, नगर मजिस्ट्रेट दीपाली भार्गव ,एसपी कन्नौज प्रशांत वर्मा भी मौजूद रहे।

अफसरों ने शराब कैसे और कहां से लगाई जाती है इसको लेकर भी जानकारी जुटाई। संयुक्त आबकारी आयुक्त लखनऊ धीरज सिंह और आगरा से संयुक्त आबकारी आयुक्त जयनेंद्र उपाध्याय ने भी अपनी टीम के साथ पहुंचकर पड़ताल की। इस दौरान ठेके से शराब के सैंपल लिए गए हैं,

देर रात पहुंचे सभी अधिकारी भोर तक मृतक के परिजनों से जांच कर बयान लेते रहे और आबकारी विभाग शराब माफियाओं को बचाने के लिए डैमेज कंट्रोल करने में लगा रहा बताते चलें कि मिलावटी शराब से हुई मौतों पर आबकारी विभाग कुछ नहीं कह रहा है हां यह जरूर ठेके की इंपीरियल ब्लू ब्रांड शराब को असली सही और अच्छा बताने पर लगा हुआ है आबकारी विभाग के अधिकारियों का कहना है कि शराब एकदम सही थी, बताते चलें की आबकारी विभाग और शराब माफियाओं के गठजोड़ ने अब तक कई की जाने ले ली है लेकिन इन माफियाओं पर अभी तक आंच नहीं आई है इस बार भी आबकारी विभाग शराब माफियाओं को बचाने में जुट गया है

Next Story
Share it