यूक्रेन में रूसी सेना द्वारा युद्धापराध,रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन बर्बर हिंसा के कृत्यों के लिए ज़िम्मेदार हैं

यूक्रेन में रूसी सेना द्वारा युद्धापराध,रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन बर्बर हिंसा के कृत्यों के लिए ज़िम्मेदार हैं

अपनी मर्ज़ी से अकारण और अनुचित युद्ध छेड़ने के बाद से, रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन बर्बर हिंसा के कृत्यों के लिए ज़िम्मेदार हैं, जिनसे पूरे यूक्रेन को मौत और विनाश झेलना पड़ रहा है। हमने अंधाधुंध हमलों और जानबूझकर नागरिकों पर लक्षित हमलों, तथा अन्य अत्याचारों के बारे में कई विश्वसनीय रिपोर्टें देखी हैं। रूसी सेना ने अपार्टमेंट भवनों, स्कूलों, अस्पतालों, महत्वपूर्ण बुनियादी ढांचों, असैन्य वाहनों, शॉपिंग केंद्रों और एम्बुलेंसों को नष्ट किया है, जिसके कारण हज़ारों निर्दोष नागरिक हताहत हुए हैं। रूसी सेना ने जिन ठिकानों पर हमले किए हैं उनमें से कइयों को स्पष्ट रूप से नागरिकों द्वारा उपयोग किए जा रहे स्थलों के रूप में चिन्हित किया गया था। इनमें मारियुपोल प्रसूति अस्पताल भी शामिल है, जैसा कि संयुक्तराष्ट्र मानवाधिकार उच्चायुक्त कार्यालय ने 11 मार्च की एक रिपोर्ट में स्पष्ट उल्लेख किया है। इसमें मारियुपोल के एक थिएटर पर किया गया हमला भी शामिल है, जहां स्पष्ट रूप से "дети" – रूसी भाषा में "बच्चों" के लिए प्रयुक्त शब्द – अंकित था। बड़े अक्षरों में अंकित यह शब्द आकाश से दिखाई देता है। पुतिन की सेना ग्रोज़्नी, चेचन्या और अलेप्पो, सीरिया में इसी तरह की रणनीति अपना चुकी है, जहां उन्होंने लोगों की इच्छाशक्ति को तोड़ने के लिए शहरों पर जमकर बमबारी की थी। यूक्रेन में ऐसा ही करने के उनके प्रयास ने एक बार फिर दुनिया को झकझोर दिया है, और राष्ट्रपति ज़ेलेंस्की के संयमपूर्वक शब्दों में, "यूक्रेन के लोगों को खून और आंसुओं में डुबो दिया है।"

हर दिन जब रूसी सेना अपने क्रूर हमलों को जारी रख रही है, महिलाओं और बच्चों सहित हताहत होने वाले निर्दोष नागरिकों की संख्या बढ़ती जा रही है। घेराबंदी का सामना कर रहे मारियुपोल के अधिकारियों के अनुसार 22 मार्च तक, अकेले उस शहर में 2,400 से अधिक नागरिक मारे गए थे। संयुक्तराष्ट्र ने आधिकारिक तौर पर 2,500 से अधिक नागरिकों के हताहत होने की पुष्टि की है, जिसमें मारियुपोल की तबाही से जुड़ी संख्या शामिल नहीं है, और इस बात पर ज़ोर दिया है कि वास्तविक संख्या कहीं अधिक हो सकती है।

गत सप्ताह मैंने, अनगिनत दृष्टांतों तथा हम सबके सामने मौजूद विनाश और पीड़ा की तस्वीरों के आधार पर, राष्ट्रपति बाइडेन के बयान को दोहराया था कि यूक्रेन में पुतिन की सेना युद्धापराध कर रही है। मैंने तब उल्लेख किया था कि नागरिकों को जानबूझकर निशाना बनाना युद्धापराध है। मैंने इस बात पर ज़ोर दिया था कि विदेश विभाग और अमेरिकी सरकार के अन्य विशेषज्ञ यूक्रेन में संभावित युद्धापराधों का दस्तावेज़ीकरण और मूल्यांकन कर रहे हैं।

आज, मैं घोषित करने की स्थिति में हूं कि वर्तमान में उपलब्ध जानकारियों के आधार पर, अमेरिकी सरकार का यह आकलन है कि रूसी सेना के सदस्यों ने यूक्रेन में युद्धापराध किए हैं।

हमारा आकलन सार्वजनिक और खुफ़िया स्रोतों से उपलब्ध जानकारियों की सावधानीपूर्वक की गई समीक्षा पर आधारित है। किसी भी कथित अपराध की तरह, इन अपराधों पर प्राधिकार क्षेत्र वाली एक अदालत अंततः विभिन्न मामलों में आपराधिक दोष का निर्धारण कर सकेगी। अमेरिका सरकार युद्धापराधों की रिपोर्टों को ट्रैक करना जारी रखेगी और हम अपने द्वारा एकत्रित जानकारी सहयोगी देशों, साझेदारों और अंतरराष्ट्रीय संस्थानों एवं संगठनों के साथ आवश्यकतानुसार साझा करेंगे। जवाबदेही तय करने के लिए हम आपराधिक मुक़दमों सहित हर उपलब्ध साधन का उपयोग करने के लिए प्रतिबद्ध हैं।

Next Story
Share it