आगरा : फर्जी मजिस्ट्रेट बनके कॉलेज का स्ट्रांग रूम चेकिंग करने की कर रहे थे कोशिश, दर्ज हुआ मुकदमा

आगरा : फर्जी मजिस्ट्रेट बनके कॉलेज का स्ट्रांग रूम चेकिंग करने की कर रहे थे कोशिश, दर्ज हुआ मुकदमा

आगरा: उत्तर प्रदेश बोर्ड में लगातार परीक्षा पेपर लीक मामले की घटनाएं जहां सामने आ रही हैं वहीं आगरा से सबसे चौंकाने वाली खबर सामने आई है जहां फर्जी मजिस्ट्रेट बनकर कॉलेज के स्ट्रांग रूम चेकिंग करवाने पहुंचे चार युवको को पकड़ा गया है।

सोमवार को दोपहर में जनपद के तारा थाना इरादत नगर के श्री माता वैष्णो देवी इंटर कॉलेज से चार फर्जी मजिस्ट्रेट बनकर कॉलेज का स्ट्रांग रूम चेक करने पहुंचे कथित अधिकारीयों का सामना जब कॉलेज प्रशासन से हुआ तो कथित मजिस्ट्रेट एनसीआरबी की फुल फॉर्म न बता पाने पर शक हो गया।

चारों लोगों पर शक होने पर स्कूल व्यवस्थापक ने जब चारों से एनसीआरबी की फुल फॉर्म बताने को कहा तो चारों एक दूसरे की शक्ल देखने लगे। इतने में स्कूल प्रशासन की समझ में पूरा मामला आ चुका था इस मामले की जानकारी उन्होंने पुलिस को दी।

मौके पर पहुंची पुलिस ने चारों लोगों को विस्तार किया है। पुलिस की पकड़ में आए रघुवीर थाना शमशाबाद क्षेत्र का रहने वाला बताया जा रहा है, और अशोक मुकेश और देवेंद्र यह तीनों सैया क्षेत्र के निवासी बताए जा रहे हैं।

इस संदर्भ में थाना अध्यक्ष अवधेश गौतम ने बताया कि चारों के विषय में जानकारी की जा रही है चारों ने स्कूल प्रशासन को अपने प्रभाव में लेने के लिए कालाकोट और फर्जी नेम प्लेट का सहारा लिया था।

अभी कुछ दिन पहले अंग्रेजी के पेपर लीक होने का मामला थमा नहीं है बल्कि अंग्रेजी के बाद संस्कृत का पेपर भी लीक हुआ था लेकिन अब यह घटना हैरान करने वाली कि इस तरह कोई भी ऐरा -गैर कैसे अपने को मजिस्ट्रेट बताकर किसी भी कॉलेज में घुस सकता है आखिर ऐसे लोगो को हिम्मत कहाँ से मिलती है।

Next Story
Share it