विवाहिता ने दहेज प्रताड़ना से क्षुब्ध होकर मायके में फांसी लगाई - पिता की तहरीर पर दहेज प्रताड़ना मुकदमा दर्ज

विवाहिता ने दहेज प्रताड़ना से क्षुब्ध होकर मायके में फांसी लगाई - पिता की तहरीर पर दहेज प्रताड़ना मुकदमा दर्ज



सरोजनी नगर । राजधानी लखनऊ के सरोजनी नगर बिजनौर थाना क्षेत्र के अंतर्गत माती ग्राम सभा निवासी गंगा गुलाम शुक्ल ने शनिवार को थाना बिजनौर में लिखित तहरीर देकर बताया मैंने अपनी पुत्री श्वेता का विवाह 2018 में अजीत मिश्रा पुत्र राजेंद्र मिश्रा निवासी तिलेन्डा थाना बछरावां रायबरेली से किया था। विवाह के बाद से ही आए दिन मेरी पुत्री को ससुराली जन दहेज को लेकर प्रताडित किया करते थे ससुराली जनो मे ससुर राजेन्द्र मिश्रा सास स्नेहलता पति अजीत जेठ अमित जेठानी मोनी लगातार मानसिक व शारीरिक रुप से प्रताडित करते थे और कहते थे कि तुम्हारे बाप ने यहाँ शादी में क्या दिया है अपने घर जब और रुपया लेकर आव इसी बजह से मेरी पुत्री अधिकतर मायके रहती थी और अन्दर ही अन्दर घुट रही थी जिसने बीती रात लगभग 12:30 बजे अपने कमरे में फांसी लगा ली । जब मेरी पत्नी बाथरुम करने उठी तो देखा कि पुत्री श्वेता पंखे की कुन्डे से साड़ी के सहारे लटकी है।


पत्नी द्वारा चिल्लाने पर घर के सभी सदस्य उठकर आए और साडी काटकर पुत्री को नीचे उतारा और स्थानीय डाक्टर को बुलाया उन्होंने पुत्री की मृत्यु की पुष्टि की तब तक मोहल्ले के काफी लोग शोर सुनकर दरवाजे पर आए इसके बाद 112 नम्बर पर काल कर कर सूचना दी गई । घटना की जानकारी पर बिजनौर पुलिस द्वारा शव का पंचनामा कराकर अंत्य परीक्षण हेतु मेडिकल कॉलेज भेजा गया है। इसके साथ ही बिजनौर पुलिस द्वारा पीड़ित पिता की तहरीर के आधार पर दहेज प्रताड़ना से मृत्यु का मुकदमा आईपीसी की धारा 304 बी 498 ए में पंजीकृत किया है ।

Next Story
Share it