गरीब को समझाना होगा न की नौकरी से निकालना, सफाईवाले की नौकरी बहाल करनी चाहिए सरकार को

कई बार हम उस बात के लिए जिम्मेदार ठहरा दिये जाते है जिसके लिए हम जिम्मेदार होते नहीं | हो सकता है कि वो सफाई वाला जिसने प्रधानमंत्री मोदी और योगी जी की तस्वीर अपने कूड़ा गाड़ी के किनारे कूड़ा रोकने और ले जाने के लिए लगाया था उसको उस कृत्य का परिणाम न पता हो | सोशल मीडिया कई बार हम पर ज्यादती कर देता है | जिसने भी उसकी वीडियो बनाया वो भी उन तस्वीरों को दिखाने के लिए जिम्मेदार है | आप अच्छे नागरिक तब माने जाते जब उस गरीब को बिना तकलीफ दिए अपने प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री की इज्जत करने के बारे में बताते |

सोशल मीडिया का दौर हमें बैठे बिठाये पैसे कमाने और दूसरों की गलती पर मजा लेने का काफी मौका दे रहा है | पर हम ये भूल जाते है कि हम भी कभी दूसरे के लिए एक खेल बन जाएंगे | सोशल मीडिया पर इस तरफ की खबरों को वायरल कर आपका मतलब तो हल हो गया पर उस गरीब की नौकरी चली गयी | उसे हम आइंदा ऐसा न करने की चेतावनी दे सकते थे पर उनके अधिकारी ने भी वायरल होते देख आव न देखा ताव गरीब की नौकरी ले बैठे |

सोशल मीडिया में इस तरह के चलन को बंद तो नहीं किया जा सकता पर इन लोगो पर भी नैतिक दबाव डाला जा सकता है | जहां पर ठीक करने की संभावना हो वहा किसी की जिंदगी ख़राब करने की कोशिश न कि जाए तो बेहतर होगा |

Next Story
Share it