अवैध शराब का कारोबार बना पुलिस का कमाऊ जरिया

अवैध शराब का कारोबार बना पुलिस का कमाऊ जरिया

सरकार जहाँ अवैध शराब कारोबार पर अंकुश लगाने के लिए आए दिन जिम्मेदार अधिकारियों को कडे निर्देश जारी करती रहती है वहीं क्षेत्र में धधक रही शराब की भट्ठियाँ पुलिस का कमाऊ जरिया बना हुआ है ।

कोतवाली क्षेत्र के अंतर्गत पूरे मललाहन मटियारी कला रूदापुर रानीगंज वारिसगंज खौपुर हारीमऊ बगाही बढौली मोहब्बतपुर करीडीह पूरे पासिन महमदपुर भूलीनगर आदि दर्जनो गांवो में शाम व भोर होते ही धंधे में लिप्त अवैध शराब कारोबारी भट्ठियाँ धधका कर शराब बनाने में मस्त रहते हैं माल तैयार कर अपने अपने अड्डो पर बिक्री के लिए भेजते रहते हैं तथा घरो से भी पीने वाले नशेडी खरीदकर पीने में मस्त रहते हैं तथा नशे में धुत होकर गांव के लोगों से गाली गलौज मारपीट व बहू बेटियों से छेड़छाड़ आदि घटना होना आम बात हो गई है पीडित ग्रामीणों ने बताया कि मामला थाने पहुंचने पर कोई कार्यवाही न करके डांट फटकार कर भगा दिया जाता है ग्रामीणों की माने तो धंधा चमकाने के लिए कारोबार में लिप्त लोग इसके एवज में पुलिस को मोटी रकम देते रहते हैं जिसके चलते कभी धंधा बंद कराने के लिए कोई ठोस कदम नहीं उठाया जाता ।यदा कदा दस पाँच लीटर अवैध शराब दिखा कर किसी न किसी को जेल भेज कर पुलिस अपनी पीठ जरूर थपथपा लेती है गौरतलब हो कि आबकारी विभाग भी शायद इस तरफ ध्यान देना मुनासिब नहीं समझता जिससे पुलिस की बल्ले बल्ले तो कारोबारियो की दिन दूनी रात चौगुनी के चलते सरकार की छवि धूमिल होती जा रही हैं ।

Tags:    Illegal Liquor 
Next Story
Share it