लखनऊ : अपराधी को पकड़ने गई प्रदेश पुलिस टीम पर हमला, स्‍वजन ने घर का दरवाजा बंद कर बनाया बंधक जमकर पीटा

लखनऊ : अपराधी को पकड़ने गई प्रदेश पुलिस टीम पर हमला, स्‍वजन ने घर का दरवाजा बंद कर बनाया बंधक जमकर पीटा

गोसाईगंज के सुतरखाना में वांछित शिवकुमार को पकड़ने गई पुलिस टीम पर उसके घर वालों ने हमला बोल दिया। हमले के दौरान दारोगा, सिपाही और अन्य पुलिस कर्मियों को घर में ही बंधक बनाकर पीटा।

किसी तरह एक पुलिस कर्मी ने कंट्रोल रूम को सूचना दी। जिसके बाद भारी पुलिस बल पहुंचा तो पुलिस कर्मी बंधक मुक्त हुए। पुलिस ने दो हमलावरों को गिरफ्तार कर लिया है।

गोसाईगंज थाने के दारोगा मुन्ना लाल, सिपाही जितेंद्र भाटी और सुशील चौहान रविवार करीब 9:30 बजे वारंटी शिव कुमार की गिरफ्तारी के लिए उसके घर पर दबिश देने पहुंचे। बताया जा रहा है कि पुलिस कर्मियों के दरवाजा खटखटाने पर शिव कुमार के भाई बालगोविंद ने खोला।

पुलिस कर्मी अंदर पहुंचे और शिवकुमार की खोजबीन करने लगे। इस बीच बालगोविंद ने घर के मुख्य द्वार का दरवाजा बंद कर लिया और पीछे के रास्ते से महिलाओं समेत घर के अन्य लोगों को बुला लिया।

सभी ने पुलिस टीम पर हमला बोल दिया। पुलिस कर्मियों को बंधक बनाकर जमकर पीटा। इस बीच एक सिपाही किसी तरह हमलावरों के चंगुल से भागा और उसने कंट्रोल रूम को सूचना दी।

सूचना मिलते ही गोसाईगंज समेत कई थानों का पुलिस बल मौके पर पहुंचा। पुलिस टीम ने घर की घेराबंदी की और किसी तरह अंदर दाखिल हुए। यह देख हमलावर भाग निकले। पुलिस ने मौके से बाल गोविंद को धर दबोचा।

पुलिस टीम को बंधक मुक्त कराकर सभी को थाने ले गए। इंस्पेक्टर शैलेंद्र गिरी ने बताया कि दारोगा मुन्ना लाल की तहरीर पर शिव कुमार के भाई बालगोविंद के अलावा परिवार की गोमती देवी,

रोशनी, पड़ोसी राम सागर, शत्रोहन, शिवमंगल समेत कुछ अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। वहीं, सोमवार सुबह गोमती को भी गिरफ्तार कर लिया गया। जबकि अन्य की तलाश में दबिश दी जा रही है।

Tags:    Crime 
Next Story
Share it