नारकोटिक्स व एसएसबी ने मारा छापा, भारी मात्रा में नशीली दवाओं के साथ 6 गिरफ्तार

नारकोटिक्स व एसएसबी ने मारा छापा, भारी मात्रा में नशीली दवाओं के साथ 6 गिरफ्तार

बहराइच। भारत नेपाल सीमावर्ती रुपईडीहा कस्बे में भारी मात्रा में नशीली दवाओं बिक्री होने की सूचना पर नारकोटिक्स विभाग लखनऊ व एसएसबी की संयुक्त टीमों ने रुपईडीहा कस्बे में दो दिन पूर्व 6 मेडिकल स्टोरों पर छापा मारा था। इस छापे में भारी मात्रा में नशे में प्रयुक्त होने वाली दवाइयां व लाखों रुपये नगदी बरामद हुई है। एनसीबी लखनऊ द्वारा जारी एक प्रेस रिलीज में इसका खुलासा किया गया है। प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया है कि रुपईडीहा गुप्तचर एजेंसियों व हमारी टीम की सूचनाओं व शिकायतों के आधार पर रुपईडीहा में छापेमारी की गई थी। रात दिन इन दवाइयों की गिनती में लग गए। रुपईडीहा कस्बे के कोमल मेडिकल स्टोर, संदीप मेडिकल स्टोर, सिद्दीकी मेडिकल स्टोर, श्री बालाजी मेडिकल स्टोर, अनुराग मेडिकल स्टोर व एक अन्य मेडिकल स्टोर जिस पर कुछ नहीं लिखा था। मेडिकल स्टोरों व इनके संचालकों द्वारा बताए गए गोदामों से भारी मात्रा में यह नशीली दवाईयां बरामद की गई हैं। कई दवाईयों के विधिक प्रपत्र नही मिले। न चिकित्सको द्वारा लिखे गए पर्चे ही मिले। प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर इनका दुरुपयोग होने की भी सूचनाएं प्राप्त हुई थी। इस छापे में सहायक आयुक्त देवी पाटन मंडल गोंडा गणेश शंकर श्रीवास्तव, श्रावस्ती की डीआई प्रीति सिंह, बहराइच के डीआई राजू प्रसाद व सहायक निरीक्षक एसएसबी 42वी वाहिनी रुपईडीहा बीओपी सुमित भारद्वाज अपने सहयोगियों एस एस बी के ए एस आई विकास गुरुंग, मुख्य आरक्षी मनिंदर शर्मा, मुख्य आरक्षी शिशुपाल सिंह,का0साहिब हुसैन,का0आनन्द कुमार, महिला कांस्टेबल शारदा हरितवाल,सीमा यादव

सहित नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो लखनऊ के अधिकारियों ने कस्बे में फैले इस नशीली दवाओं का मकड़ जाल और समाज विरोधी कुकृत्य के विरुद्ध भारी सफलता अर्जित की। यह भी सूचना मिली थी कि ये लोग इन दवाओं की तस्करी नेपाल में करवाते हैं। नेपाल के अधिकारियों ने भी इसपर चिंता व्यक्त करते हुए भारतीय अधिकारियों से इसे रोकने की अपील भी की थी। कुछ नशीली दवा विक्रेता शटर गिरा कर भाग खड़े हुए। कुछ को सूचना मिली तो उन्होंने अपनी दुकानों से ऐसी दवाईयां ही हटा दी।

Next Story
Share it