शराब तस्करों की नए वर्ष के लिए बढ़ी सक्रियता, रोज ढूंढ रहे नए तरीके

  • whatsapp
  • Telegram
  • koo
शराब तस्करों की नए वर्ष के लिए बढ़ी सक्रियता, रोज ढूंढ रहे नए तरीके

नए वर्ष में पार्टियों में शराब परोसे जाने को लेकर शराब तस्करों की सक्रियता इन दिनों काफी बढ़ गई है। शराब तस्कर जहां तस्करी के लिए रोज नए तरीके इजाद कर रहे हैं, वहीं पुलिस और उत्पाद विभाग भी इन तस्करों को पकड़ने के लिए चौकस है। गोपालगंज में पिछले 24 घंटे की बात करें तो पुलिस और उत्पाद विभाग ने शराब तस्कर द्वारा बाइक में पेट्रोल वाली टंकी और सीट कवर को ही शराब छिपाने का ठिकाना बनाने के तरीके को पकड़ा है।

यही नहीं, तस्कर शरीर में जैकेट के अंदर भी शराब छिपाकर तस्करी कर रहे हैं। उत्पाद पुलिस ने पांच शातिर तस्करों की गिरफ्तारी के बाद इसका खुलासा किया है।

गोपालगंज के उत्पाद अधीक्षक राकेश कुमार ने बताया कि यूपी से बाइक की टंकी, सीट कवर के अंदर और शरीर में सेलोटेप से चिपका कर शराब की तस्करी करने वाले पांच तस्करों को गिरफ्तार किया गया है। इनके पास से तीन बाइक और 395 बोतल शराब बरामद की गयी है।

उन्होंने कहा कि शराब तस्करों को पकड़ने के लिए ड्रोन, स्कैनिंग मशीन की मदद ली जा रही है। नए वर्ष को लेकर उत्पाद पुलिस ने चेकपोस्ट पर चौकसी बढ़ा दी है।

इधर, पुलिस ने शराब सेवन और तस्करी से जुड़े 43 लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस के एक अधिकारी ने कहा, पशु के चारे में शराब की बोतलें छिपाकर लाई जा रही थी, उसे पकड़ा गया।

पुलिस के मुताबिक, गोपालगंज पुलिस ने शराब से भरी लग्जरी कार को जब्त किया है। जब्त कार के साथ वैशाली के रहनेवाले दो शराब तस्करों को गिरफ्तार किया है। जब्त ब्रेजा कार से 310 लीटर शराब बरामद की गयी। यह कार्रवाई फुलवरिया पुलिस ने मीरगंज-भोरे पथ पर वाहन जांच के दौरान की।

बिहार में शराबबंदी है और शराब के किसी तरह के व्यापार और सेवन पर प्रतिबंध है।

Next Story
Share it