Top

एसटीफ ने 25 हजार के इनामी कुख्यात अपराधी सुभाष यादव समेत चार गिरफ्तार

एसटीफ ने 25 हजार के इनामी कुख्यात अपराधी सुभाष यादव समेत चार गिरफ्तार

जौनपुर, 01 जनवरी(हि.स.)। शुक्रवार को एसटीएफ वाराणसी की टीम ने हत्या, लूट करने वाले अन्तरजनपदीय गिरोह के 25 हजार का इनामी बदमाशी सुभाष यादव समेत चार ​को गिरफ्तार किया है।

पुरस्कार घोषित कुख्यात अपराधी सुभाष यादव उर्फ धीरज उर्फ नेता अपने गिरोह के साथ किसी घटना को अंजाम देने के लिये पिण्डरा की ओर जाने की सूचना मिली थी। इस सूचना पर निरीक्षक अमित श्रीवास्तव के नेतृत्व में एसटीएफ टीम ने मुखबिर द्वारा बताये गये स्थान पर पहुंचकर पुलिस मुठभेड़ में अपराधी सुभाष यादव उर्फ धीरज उर्फ नेता को उसके 04 साथियों सहित गिरफ्तार कर लिया। जबकि मौके से दो अपराधी फरार हो गये।

एसटीएफ के अनुसार गिरफ्तार अभियुक्त सुभाष यादव उर्फ धीरज उर्फ नेता ने पूछताछ के दौरान बताया कि वर्ष 2012 में अपने गांव के ही रहने वाले हरि यादव के कहने पर मैंने थाना केराकत के ग्राम छितौनी के रहने वाले अच्छे लाल मौर्या की हत्या कर दी थी, जिसमें मैं गिरफ्तार होकर जेल चला गया। जमानत पर छूटने के बाद मैंने अपने साथियों के साथ मिलकर वर्ष 2016 में मुखबिरी करने का शक होने के कारण उदय विश्वकर्मा व राजू सेठ को वाराणसी से ले जाकर चन्दवक क्षेत्रान्तर्गत गोबरा गाॅंव में हत्या कर दिया था।

इसके बाद केराकत थाना क्षेत्रान्तर्गत गोलाबाजार में सर्राफा व्यापारी से लूट किया था। उक्त दोनों मामलों में गिरफ्तार होकर जेल चला गया। इसी दौरान मेरे गांव के पास के ही गांव बेहडा के रहने वाले आदर्श सिंह से मेरी दोस्ती हो गयी। आदर्श के गैंग में पहले से ही बहुत से लूट करने वाले अपराधी मौजूद थे, जिनसे हमलोगों ने अपना एक मजबूत गैंग बना लिये।

बताया कि एक घटना के मामले में गिरफ्तार होकर वर्ष 2018 में जेल चला गया। जेल में ही मैंने व आदर्श सिंह ने बेहडा गांव के रहने वाले संजय सिंह की हत्या की योजना बनायी थी। आदर्श सिंह आपसी रंजिश के कारण संजय सिंह की हत्या कराना चाहता था। हमलोगों की योजना थी कि संजय सिंह की हत्या के बाद एक-दो बड़ी लूट करके पर्याप्त धन एकत्रित कर फरार हो जायेंगे। हमलोगों अपनी पहचान छुपाने के लिये कूटरचित परिचय पत्र भी बनवा लिया था।

सुभाष यादव उर्फ धीरज उर्फ नेता ने पूछताछ के दौरान यह भी बताया कि इस योजना के तहत आदर्श सिंह, गोरखपाल, सुरेश यादव, सूरज यादव तथा गोरखपाल के रिश्तेदार वीरेन्द्र कुमार पाल को साथ लेकर संजय सिंह बेहडा की रैकी करने निकले थे और मौका मिलते ही आज से लेकर कल तक हमलोग संजय सिंह बेहडा की हत्या कर देते। इसके बाद हमलोग जनपद आजमगढ़ के बूढ़नपुर के निकट कोयलसा बाजार में सर्राफा व्यवसायी के यहां लूट करते और इसके बाद मुम्बई भाग जाते, परन्तु आज पुलिस द्वारा गिरफ्तार कर लिया गया।

हिन्दुस्थान समाचार/विश्व प्रकाश

Next Story
Share it