दस हजार का ईनामी शातिर अपराधी सांरग चढा पुलिस के हत्थे,भेजा जेल

दस हजार का ईनामी शातिर अपराधी सांरग चढा पुलिस के हत्थे,भेजा जेल

एसपी देहात ह्रदेश कुमार के नेतृत्व में अपराधियों पर शिकंजा कसने में जुटी लखनऊ ग्रामीण की निगोहां पुलिस ने एसओजी व सर्विलांस टीम की मदद से बीते सात सालो से फरार चल रहे दस हजार रूपये के ईनामी शातिर अपराधी सांरग सक्सेना को सोमवार को नगराम मोड़ से गिरफ्तार कर जेल भेजा। पुलिस के हत्थे चढे शातिर अपराधी सांरग पर रेलवे स्टेशनो को बम से उड़ा देने की धमकी सहित कई जनपदो में फर्जीवाड़े के दर्जन भर से अधिक मुकदमें दर्ज थे। पुलिस ने गिरफ्तार शातिर अपराधी को जेल भेज दिया है।

एसपी देहात ह्रदेश कुमार ने बताया निगोहां थाने पर 2014 में बेटी के दोस्त को फंसाने के किये अपराधी किस्म के सांरग सक्सेना ने एक स्थानीय नेता के साथ मिलकर दलित महिला के जरिये बलात्कार सहित अन्य धाराओ में मुकदमा दर्ज कराया था,तत्कालीन प्रभारी निरीक्षक कैलाश नाथ यादव ने विवेचना के दौरान पूरा मामला फर्जी होने पर सांरग सक्सेना सहित स्थानीय नेता व दलित महिला के विरूद्व साजिश रचने सहित अन्य संगीन धाराओ में मुकदमा दर्ज कर दो आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था,जब कि सांरग फरार हो गया था,और अपना नाम‌ व पहचान बदलकर नोएडा व दिल्ली में रह रहा था।पुलिस ने शातिर अपराधी सांरग को गिरफ्तार करने के लिये दस हजार का ईनाम घोषित कर रखा था।बीते सोमवार को शातिर अपराधी सांरग सक्सेना निवासी खत्री टोला, थाना वजीरगंज,लखनऊ के निगोहां क्षेत्र में होने की सूचना पर थाना प्रभारी निगोहां जीतेन्द्र प्रताप सिहं व एसओजी प्रभारी अनूप सरोज के नेतृत्व में संयुक्त टीमो ने निगोहां के नगराम मोड़ चौराहे के पास घेराबंदी कर सांरग सक्सेना को धर दबोचा।एसपी ने बताया बेहद शार्प मांइड सांरग मोबाइल का प्रयोग नही करता था और मौजूद समय में जीआईसी कैम्पस,मुगलपुरा जनपद मुरादाबाद में रह रहा था जिसके चलते उसकी लोकेशन ट्रेस नही हो पाती थी।एसपी ह्रदेश कुमार ने शातिर अपराधी को गिरफ्तार करने वाली टीमो की पीठ थपथपाने के साथ ईनाम देने की घोषणा की है।

Next Story
Share it