"वह दिन दूर नहीं जब विश्व की एक सरकार बनेगी" न्यायविदों व कानूनविदों की राय

वह दिन दूर नहीं जब विश्व की एक सरकार बनेगी न्यायविदों व कानूनविदों की राय

सीएमएस द्वारा आयोजित '21वें इंटरनेशनल चीफ जस्टिसेस कांफ्रेंस' हुआ सम्पन्न

लखनऊ, 9 नवम्बर: सिटी मोन्टेसरी स्कूल, लखनऊ द्वारा 'ग्लोबल गवर्नेंस नाउः एक पोस्ट-कोविड इम्पेरेटिव' विषय पर ऑनलाइन आयोजित किये गये इस विश्व के मुख्य न्यायाधीशों के 21वें अन्तर्राष्ट्रीय सम्मेलन आज सम्पन्न हो गया। जिसमें 63 देशों के 102 राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, संसद के स्पीकर, न्यायमंत्री, संसद सदस्य, इण्टरनेशनल कोर्ट के न्यायाधीश एवं विश्व प्रसिद्ध शान्ति संगठनों ने अपनी उपस्थिति ऑनलाइन दर्ज करायी हैं, जिसमें न्यायविदों व कानूनविदों ने एक स्वर से सी.एम.एस. छात्रों की 'भावी पीढ़ी के सुरक्षित भविष्य' की अपील का पुरजोर समर्थन किया है। इस ऐतिहासिक सम्मेलन के चैथे व अन्तिम दिन के मुख्य अतिथि माननीय श्री केशव प्रसाद मौर्य, उपमुख्यमंत्री, उत्तर प्रदेश सरकार, प्रो. बलराज चैहान, वाइस-चांसलर, धर्मशास्त्र नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी, जबलपुर, मध्य प्रदेश, प्रो. आलोक कुमार राय, वाइस चांसलर, लखनऊ विश्वविद्यालय एवं प्रो. सुबीर के. भटनागर, वाइस चांसलर, डा. राम मनोहर लोहिया नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी, लखनऊ ने अपने विचारों से विश्व एकता एवं विश्व सरकार का पुरजोर समर्थन किया। इसके अलावा माननीय न्यायमूर्मि श्री कमल कुमार, कार्यकारी मुख्य न्यायाधीश, फिजी आइसलैण्ड्स एवं माननीय न्यायाधीस श्री मेलिस टगायेव, प्रेसिडेन्ट, एडमिनिस्ट्रीव कोर्ट, कजाकिस्तान ने भी हिस्सा लिया।

सम्मेलन में आज के मुख्य अतिथि श्री केशव प्रसाद मौर्य, ने अपने संबोधन में कहा कि विश्व एकता आज की सबसे बड़ी आवश्यकता है। एकता से ही सम्पूर्ण मानव जाति का कल्याण संभव है, इसमें कोई दो राय नहीं हो सकती है। तथा प्रो चौहान, ने ग्लोबल गवर्नेंस की बात का समर्थन किया और कहा कि इस वैश्विक महामारी के दौरान भारतीय संस्कृति 'वसुधैव कुटुम्बकम' तथा 'भारतीय सविंधान' अनुच्छेद '51' के अनुसार एक 'वैश्विक सरकार' कि स्थापना करना आवश्यक है और अंत में 'जान भी जहान भी' पे अपनी वाणी को विराम दिया। कांफ्रेंस के संयोजक तथा सीएमएस संस्थपक, डॉ जगदीश गाँधी ने विश्व के समस्त राष्ट्राध्यक्षों से अपील करी है कि वो सभी एक साथ आए और एक 'विश्व संसद' का निर्माण जल्द से जल्द करें।

श्री शिशिर श्रीवास्तव, हेड, इंटरनेशनल रिलेशन्स, सीएमएस ने बताया कि सीएमएस सीइओ, श्री रोशन गाँधी, ने पूर्व मुख्य न्यायाधीश माननीय न्यायमूर्ति श्री हिलेरियो डेविड जूनियर, सुप्रीम कोर्ट फिलीफिन्स को 'महात्मा गाँधी अवार्ड' से वर्चुअल प्रजेन्टेशन के माध्यम से सम्मानित किया गया और साथ ही साथ ये भी कहा कि इसके अलावा श्री एंड्रेयास बुमेल, को-फाउन्डर एवं डायरेक्टर, डेमोक्रेशी विदाउट बार्डर्स, जर्मनी, श्री इस्माइल जी. खान, एट्रोनी एट लॉ, फिलीफिन्स, सुश्री रोसालाइन, एच.डब्लू.पी.एल, साउथ कोरिया भी इस कांफ्रेंस में हिस्सा लिया।

श्री श्रीवास्तव ने अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए कहा कि अगले सत्र के मुख्य अतिथि माननीय प्रो अलोक कुमार राय, वाईस चांसलर, लखनऊ यूनिवर्सिटी, तथा समापन सत्र के मुख्य अतिथि माननीय प्रो सुबीर के. भटनागर, कुलपति, राम मनोहर लोहिया नेशनल लॉ विश्वविद्यालय, लखनऊ तथा साथ ही साथ माननीय श्री मौसा लौरेन्ट नगाव बाबा, स्पीकर, नेशनल एसेम्बली, सेन्ट्रल अफ्रीकन रिपब्लिक, माननीय जस्ट्सि एंटोनी केसियाम्बी मिंदुवा, इंटरनेशनल क्रिमिनल कोर्ट, नीदरलैंड, एवं महामहिम श्री जोसेलेरमे प्रीवर्ट, पूर्व राष्ट्रपति, हैयती भी जुड़ें थे।

Next Story
Share it