Top

जीवन में आगे बढ़ने के लिए लक्ष्य का निर्धारण करना जरुरी है : प्रो. गोविन्द जी पाण्डेय

कोरोना की चुनौतियों के साथ विद्यार्थी पढ़ाई करें:सशक्त सिंह

आर्यकुल कालेज में नवागमन कार्यक्रम आयोजित

बीबीएयू के प्रो.गोविन्द जी पाण्डेय मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित रहे

बिजनौर स्थित आर्यकुल ग्रुप ऑफ कालेज में नये सत्र का नवागमन कार्यक्रम कालेज सभागर में कोविड—19 के प्रोटोकाल के तहत सम्पन्न हुआ। कार्यक्रम में कालेज संस्थापक बाबू के.जी.सिंह,प्रबंध निदेशक सशक्त सिंह के साथ मुख्य अतिथि के तौर पर बीबीएयू के पत्रकारिता विभाग के अध्यक्ष प्रो.गोविन्द जी पाण्डेय उपस्थित रहे।

कार्यक्रम का आरम्भ में बोलते हुए कालेज के प्रबंध निदेशक सशक्त सिंह ने कहा कि आज कोविड—19 के दौर में जहां दुनिया इस बीमारी से लड़ रही है वहीं छात्रों के सामने अपनी शिक्षा को जारी रख पाना एक चुनौती बन गया है। इस चुनौती को हमारे युवा विद्यार्थियों को स्वीकार करते हुए आगे की लड़ाई लड़नी है और अपनी शिक्षा को आगे जारी रखना है। उन्होंने कहा कि सरकारी नियमों और प्रोटोकाल का पालन करते हुए विद्यालय में शिक्षा सत्र का आरम्भ किया गया है जिसमें हमारे युवा विद्यार्थियों को सफलता हासिल करनी है और क्लास के अन्दर और बाहर मास्क लगाकर और उचित दूरी बनाकर अपने आप को बचाये रख सकते हैं। इसके साथ ही अंग्रेजी भाषा के बारे में बताते हुए कहा कि यह एक भाषा है जिसको हमें समझने की जरूरत है।

इसके बाद मुख्य अतिथि के तौर पर उपस्थित गोविन्द जी ने विद्यार्थियों को बताया की कैसे भाषा उनके विकास में योगदान कर सकती है - उन्होंने अपने अनुभव और अपने पुराने छात्रों के बारे में विस्तार से बताते हुए कहाँ की आज सिर्फ दृढ़ निश्चय के कारन सैकड़ो छात्रों ने मुंबई में फिल्म निर्माण के क्षेत्र में तहलका मचा रखा है -

संस्थान कोई भी हो अगर आप निश्चय कर लो तो कोई भी मुकाम हासिल किया जा सकता है - बस आपको ये सोचना है कि आप अपने अगले दो वर्षो में मजा लेना चाहते हो या अगले आने वाले 40 से ५० सालो तक आनंद लेना चाहते हो - अगर आज पढोगे तो आगे अच्छा जीवन मिलेगा और अगर आज अपना समय व्यर्थ गवायाँ तो आगे संघर्ष ही रहेगा - आप तय करे की आपको क्या करना है |

उन्होंने कोरोना से बचाव के तरीके साझा किये और बताया कि हमें स्वयं के साथ अपने परिवार की भी इस बीमारी से सुरक्षा करनी है इसलिए सरकार द्वारा बनाये गये नियमों का पूरी तरह से पालन करना है। उन्होंने पत्रकारिता के बच्चों से कोरोना योद्धा के रूप में पत्रकारिता के क्षेत्र में नौकरी करने वालों पत्रकारों की सराहना की और बताया कि इस विषम परिस्थिति में भी हमारे देश की मीडिया ने हमको इस बीमारी से जागरूक किया। इस कार्यक्रम में कालेज के बीफार्मा,बीबीए,एमबीए,बीजेएमसी,एमजेएमसी के 110 छात्र—छात्राओं के साथ अन्य विभागों के विद्यार्थियों ने भाग लिया। इस कार्यक्रम में सभी विभाग के विभागाध्यक्ष उपस्थित रहे।

Next Story
Share it