लखनऊ विश्वविद्यालय में 'मिशन नेट/जेआरएफ शिक्षा संरचना, स्रोत और रणनीति' पर एक दिवसीय कार्यक्रम का आयोजन.......

लखनऊ विश्वविद्यालय में मिशन नेट/जेआरएफ शिक्षा संरचना, स्रोत और रणनीति पर एक दिवसीय कार्यक्रम का आयोजन.......

लखनऊ विश्वविद्यालय में नेट-जेआरएफ उत्तीर्ण करने हेतु आवश्यक रणनीति पर विचार विमर्श हेतु शिक्षा विभाग द्वारा 'मिशन नेट/जेआरएफ शिक्षा संरचना, स्रोत और रणनीति' पर एक दिवसीय ऑनलाइन अभिविन्यास कार्यक्रम ज़ूम प्लेटफार्म की मदद से आयोजित किया गया। सहभागिता में

लगभग 50 एमए और एम.एड. शिक्षा विभाग, एलयू के छात्रों ने वस्तुत कार्यक्रम में भाग लिया। अभिविन्यास कार्यक्रम का उद्देश्य परीक्षा के पैटर्न, परीक्षा में पूछे जाने वाले प्रश्नों के प्रकार, समय प्रबंधन, संदर्भ सामग्री के स्रोत और विभिन्न प्रारंभिक दृष्टिकोणों के बारे में उम्मीदवारों को परिचित करना था।

सत्र का उद्घाटन करते हुए, प्रो. तृप्ता त्रिवेदी ने कार्यक्रम के आयोजन के लिए डॉ. अर्पणा गोडबोले ने उनके सराहनीय कदम हेतु उन्हें बधाई दी और भविष्य में भी इस तरह के कार्यक्रम को आयोजित करते रहने के लिए आश्वासन दिया। प्रो. मधुरिमा प्रधान, निदेशक, परामर्श और मार्गदर्शन प्रकोष्ठ, लखनऊ विश्वविद्यालय, ने परामर्श एवं निर्देशन प्रकोष्ठ के उद्देश्य एवं इस तरह के कार्यक्रमों के आयोजन से होने वाले लाभों के बारे में जानकारी दी और नेट/जेआरएफ की तैयारी के लिए भी व्यक्तिगत अनुभव साझा किए।

मुख्य वक्ता अर्चना पाल, आस्था सिंह और नूतन पांडे ने प्रतिभागियों को पाठ्यक्रम, संरचना, रणनीति, महत्वपूर्ण पुस्तकों के बारे में और परीक्षा के समय क्या करें और क्या न करें, के बारे में अपने व्यक्तिगत अनुभव साझा किये। कार्यक्रम के समापन में प्रो. अमिता बाजपेयी, पूर्व प्रमुख और डीन, शिक्षा विभाग, लखनऊ विश्वविद्यालय; साथ ही लखनऊ के शिक्षा विभाग की पहली जेआरएफ रही।

प्रो. बाजपेयी ने तैयारी के संबंध में अपनी अंतर्दृष्टि साझा की और विभाग के जेआरएफ द्वारा आयोजित किये गए इस कार्यक्रम एवं महत्वपूर्ण जानकारियों को विभाग के विद्यार्थियों से भलीभाँति ढंग से साझा करने के लिए बधाई दी और भविष्य के बेहतर शिक्षक बनने के लिए शुभकामनाएं दी और सभी विद्यार्थियों को भी आगामी भविष्य के लिए भी उनको शुभकामनाएं प्रेषित की।

अराधना मौर्या

Next Story
Share it