लखनऊ विश्वविद्यालय द्वारा योग एवं रोगप्रतिरोधक क्षमता पर बेबीनार का आयोजन

लखनऊ विश्वविद्यालय द्वारा योग एवं रोगप्रतिरोधक क्षमता पर बेबीनार का आयोजन

लखनऊ विश्वविद्यालय एवं यूजीसी तथा इंटर यूनिवर्सिटी सेंटर फॉर योगिक साइंस बैंगलोर में योग एवं रोगप्रतिरोधक क्षमता विषयक बेबीनार का आयोजन किया गया जिसकी अध्यक्षता संकाय के समन्वयक डॉ अमरजीत यादव ने की। आयोजन के प्रथम वक्ता डॉ वी.के.ओहरी जी ने योग के विभिन्न आयामों एवं मापदंडों पर प्रकाश डालते हुए वर्तमान काल में रोग प्रतिरोधक क्षमता को आसन तथा ध्यान द्वारा किस प्रकार अच्छा रख सकते है तथा मानसिक स्वास्थ्य तथा मस्तिष्क का उच्चस्तर बनाये रखने के लिए विभिन्न आयामों का वैज्ञानिक तथा व्यवहारिक विवेचन किया।

कार्यक्रम के अन्यवक्ता प्रो.एच.एच. अवस्थी ने आधुनिक एवं आयुर्वेदिक मतानुसार व्याधिक्षमत्व की विस्तृत वैज्ञानिक विवेचना करते हुए रोगप्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के योग के विभिन्न क्रियाओं तथा आसन, प्राणायाम का वर्णन किया। आयोजन के तृतीय वक्ता डॉ निधीश यादव जी ने वर्तमान परिवेश में कोरोना से उपजे प्रलयकारी तनाव की विस्तृत विवेचना करते हुए उससे बचाव के विभिन्न उपायों यथा- योगासन, नेति, नस्य, मर्मदाब के लाभ पर प्रकाश डाला।

कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे संकाय के समन्वयक डॉ अमरजीत यादव ने व्याधिक्षमत्व के विभिन्न सिद्धान्तों का वैज्ञानिक अध्ययन प्रस्तुत करते हुए रोगप्रतिरोधक क्षमता के विकास हेतु योग के विभिन्न मानकीय प्रकरणों यथा-आसन,प्राणायाम तथा ध्यान एवं विभिन्न योगिक क्रियाओं द्वारा शरीर का शोधन कर शरीर मे उत्त्पन्न हुए विकृतियों को दूर कर क्षमता को पुनः विकसित करने पर प्रकाश डाला किया। इस बेबीनार में संकाय के शिक्षकगण तथा भारी संख्या में योग एवं प्राकृतिक चिकित्सा के विद्यार्थियों एवं विशेषज्ञों के साथ साथ आम जन-मानस ने भी सहभागिता की।


अराधना मौर्या

Next Story
Share it