नवनियुक्त महिला कर्मचारी ने किया लखनऊ विश्वविद्यालय के द्वितीय परिसर में ध्वजारोहण

नवनियुक्त महिला कर्मचारी ने किया लखनऊ विश्वविद्यालय के द्वितीय परिसर में ध्वजारोहण

75 में स्वतंत्रता दिवस की पवित्र राष्ट्रीय पर्व पर लखनऊ विश्वविद्यालय के द्वितीय परिसर स्थित विधि संकाय में राष्ट्रीय ध्वज का ध्वजारोहण मृतक आश्रित कोटे में नवनियुक्त महिला कर्मचारी अल्पना और उनके 7 वर्षीय पुत्र रूद्र द्वारा किया गया अल्पना विभाग के पूर्व मृत चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी सुनील कुमार की पत्नी है जिनकी मृत्यु कोरोना की दूसरी लहर में हो गई थी श्रीमती अल्पना की विभाग में नियुक्ति शीघ्र ही हुई है महिला कर्मचारी से झंडारोहण कराने का प्रमुख उद्देश्य महिला सशक्तिकरण और उनके स्वर्गीय पति को संकाय की तरफ से सच्ची श्रद्धांजलि अर्पित करना था

इस अवसर पर विधि संकाय अध्यक्ष सीपी सिंह शिक्षकों कर्मचारियों एवं छात्रों को संबोधित करते हुए कहां स्वतंत्रता प्राप्ति के लिए लाखों लोगों ने अपने प्राणों की आहुति दे दी उन्होंने अपने प्राण हम सब को आजादी दिलाने के लिए दिए थे शहीदों ने अपने लिए कुछ नहीं किया जो कुछ किया वह हम सबके लिए किया शहीदों की भांति हम सब को भी जो कुछ भी करना चाहिए वह दूसरों के हित के लिए ही करना चाहिए अपने लिए नहीं गोस्वामी तुलसीदास की एक चौपाई प्रस्तुत करते हुए परहित सरिस धर्म नहिं भाई पर पीड़ा सम नहिं आधे माई‌।

संकाय अध्यक्ष प्रोफेसर सीपी सिंह ने आगे कहां लखनऊ विश्वविद्यालय हमेशा से अपने छात्र छात्राओं की योग्यताएं बढ़ाने के लिए भिन्न भिन्न प्रकार के शैक्षिक कार्यक्रम कराता रहा है इसी श्रृंखला में इस बार भी मूट कोर्ट एसोसिएशन ने 75 वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर सेकंड अवतार सिंह मेमोरियल इंटर सेमेस्टर आशु भाषण प्रतियोगिता का आयोजन किया स्वतंत्रता दिवस के पावन अवसर को ध्यान में रखते हुए इस प्रतियोगिता में समकालीन विषयों का चयन किया गया था जिससे आधुनिक भारत के बारे में प्रतिभागियों को अपने विचार प्रस्तुत करने का एक सुनहरा मौका मिल सके प्रतिभागियों ने न केवल आधुनिक भारत की छवि प्रस्तुत की बल्कि उन्होंने 75 वर्ष के आजाद भारत की सफलताओं पर भी अपनी रोशनी डाली।

प्रतियोगिता में बतौर मुख्य अतिथि श्रीमती नीता कौशिक प्रधान न्यायाधीश पारिवारिक न्यायालय फैजाबाद मौजूद रहे उन्होंने बताया कि विद्यार्थियों को इस तरह की प्रतियोगिताओं में भाग लेना चाहिए ताकि उनके व्यक्तित्व का बहुमुखी विकास हो सके साथ ही साथ उन्होंने विधि संकाय की ऐसी प्रतियोगिताएं कराने के लिए प्रशंसा की प्रतियोगिता में प्रथम स्थान निहारिका गुप्ता ने एवं दूसरा स्थान ध्रुव कृष्णा ने प्राप्त किया दोनों विजेताओं को विधि संकाय अध्यक्ष प्रोफ़ेसर सी पी सिंह द्वारा ₹500 एवं ₹250 की इनामी जल रहे थे गद्दारों के अवसर पर सम्मानित किया गया इस कार्यक्रम के निर्णायक मंडल में प्रतीक सेठ गेस्ट फैकेल्टी लखनऊ यूनिवर्सिटी एवं शैवालिनी सिंह असिस्टेंट प्रोफेसर एमिटी यूनिवर्सिटी शामिल रहे प्रतिभागियों ने सोशल मीडिया कोविड-19 कोविड-19 जलवायु परिवर्तन लोकतंत्र जैसे अनेक विषयों पर अपने विचार प्रस्तुत किए इस कार्यक्रम का संचालन लखनऊ यूनिवर्सिटी मूट कोर्ट की छात्राएं एवं मूट कोर्ट एसोसिएशन के सदस्य ख्याति राजपूत सौम्या गौतम खुशी जैन द्वारा किया गया।


Next Story
Share it