लखनऊ विश्वविद्यालय में 180 नियमित और कॉन्ट्रैक्टचुवल पदों पर भर्ती करने की प्रक्रिया होने वाली है आरम्भ....

लखनऊ विश्वविद्यालय में 180 नियमित और कॉन्ट्रैक्टचुवल पदों पर भर्ती करने की प्रक्रिया होने वाली है आरम्भ....




लखनऊ विश्वविद्यालय ने अपने 180 नियमित पदों और कई विभागों में कॉन्ट्रैक्टचुवल पदों पर भर्ती करने की प्रक्रिया आरम्भ होने को है। उल्लेखनीय है कि वर्ष 2020 में केवल रिक्रूटमेंट की महत्वपूर्ण जिम्मेदारी को संभालने के लिए एक रिक्रूटमेंट सेल का गठन माननीय कुलपति प्रो आलोक कुमार राय द्वारा किया गया। उसी वर्ष माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के जन्म दिवस के उपलक्ष पर महामहिम राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल की अनुमति अनुसार विश्वविद्यालय के सभी रिक्त पदों पर भर्ती के लिए विज्ञापन जारी कर अभ्यर्थियों से आवेदन आमंत्रित किए गए थें। इस संदर्भ में डीन, रिक्रूटमेंट प्रो मनुका खन्ना ने बताया कि समस्त आवेदन प्रक्रिया की शत प्रतिशत पारदर्शिता सुनिश्चित करने के लिए पूरी प्रक्रिया ऑनलाइन की गई है।


आवेदकों ने ऑनलाइन ही अपने सभी डॉक्यूमेंट अपने एप्लीकेशन के साथ भरें हैं और उन्हें उनके बनाए लॉगिन आईडी और पासवर्ड के जरिए अगले पड़ाव की जानकारी भी प्रदान की जायेगी। पारदर्शिता सुनिश्चित करने के लिए विश्वविद्यालय की कार्यपरिषद द्वारा एक 11 स्टेप प्रक्रिया भी पास किया गया जो पूरे आवेदन प्रक्रिया को पारदर्शी बनाती है। उक्त 11 स्टेप प्रोग्राम इस प्रकार से है:


1. कुलपति द्वारा गठित समिति द्वारा रिक्रूटमेंट के लिए रिजर्वेशन रोस्टर का निर्माण, आवेदनों का आमंत्रण


2. आवेदनों की स्क्रीनिंग। उक्त स्क्रीनिंग के लिए विभागों के विभागाध्यक्ष व दो और सदस्यों की स्क्रीनिंग समिति का डीन, रिक्रूटमेंट सेल व कुलपति द्वारा अनुमोदन के बाद गठन।


3. स्क्रीनिंग कमेटी के प्रमुख विभागाध्यक्षों को रिक्रूटमेंट पोर्टल पर आवेदनों को पढ़ने व उनकी स्क्रीनिंग करने के लिए आईडी और पासवर्ड दिया जाएगा जिसकी मदद से हर विभाग की स्क्रीनिंग कमिटी UGC के 2018 रेजोल्यूशन के आधार पर आवेदनों को रिव्यू करेगी।


4. रिक्रूटमेंट पोर्टल पर ऑटोमैटिक दिए हुए स्कोर को स्क्रीनिंग कमिटी द्वारा रिव्यू किया जाएगा। स्क्रीनिंग कमिटी के पास अधिकार होगा कि वह कम्प्यूटर के स्कोर को संशोधित करें, किंतु ऐसा करने पर उन्हें रिक्रूटमेंट पोर्टल पर ही वजह अंकित करनी होगा और सभी समिति के सदस्यों के हस्ताक्षर सहित एक रिपोर्ट डीन, रिक्रूटमेंट सेल को भी उपलब्ध करानी होगी।


5. स्क्रीनिंग कमिटी द्वारा दिए गए स्कोर का वैलिडेशन दोबारा संकायाध्यक्ष, डायरेक्टर IQAC और रजिस्ट्रार (अथवा उनके नॉमिनी) के एक कमिटी द्वारा पोषित किया जायेगा और यह कमिटी अपनी टिप्पणियों सहित एक रिपोर्ट डीन रिक्रूटमेंट सेल को भेजेगी।


6. माननीय कुलपति की अनुमति के पश्चात स्क्रीनिंग के बाद सफल हुए अभ्यर्थियों की एक सूची उनके प्राप्त अंकों के साथ रिक्रूटमेंट पोर्टल पर प्रकाशित की जाएगी।


7. प्राप्त अंकों के विषय में कोई भी क्वेरी स्क्रीनिंग कमिटी, संकाय अध्यक्ष, आइक्यूएसी के निदेशक और रजिस्ट्रर द्वारा सम्मिलित रूप से सुनी जाएगी।


8. विज्ञापित पद पर कितने आवेदकों को साक्षात्कार के लिए आमंत्रित किया जाएगा यह निर्णय माननीय कुलपति महोदय का होगा। ऑनलाइन साक्षात्कार की व्यवस्था भी उपलब्ध कराई जाएगी। सभी साक्षात्कार के लिए कॉल लेटर आवेदकों द्वारा रिक्रूटमेंट पोर्टल पर आवेदन के समय दिए गए रजिस्टर्ड ईमेल आईडी पर ही भेजे जाएंगे।


9. शिक्षकों के भर्ती के लिए सिलेक्शन कमिटी की संरचना यूपी स्टेट यूनिवर्सिटी एक्ट 1973 तहत किया जाएगा।


10. साक्षात्कार के बाद हर आवेदक का मूल्यांकन माननीय कुलपति, विभागाध्यक्ष व आमंत्रित एक्सटर्नल एक्सपर्ट द्वारा किया जाएगा।


11. सिलेक्शन कमिटी द्वारा रिकमेंड किए गए नामों की सूची को कार्यकारिणी में अप्रूवल के लिए दिया जाएगा।


कुलपति प्रो आलोक राय ने बताया कि इस पूरी प्रक्रिया को 11 स्टेप्स का बनाने की वजह ही पारदर्शिता सुनिश्चित करना है। उन्होंने कहा कि हर एक पद की नियुक्ति में विज्ञापन से लेकर नियुक्ति तक हर एक कदम ऑनलाइन है तथा पूर्ण रूप से पारदर्शी बनाई गई है और किसी भी पद में किसी भी प्रकार की त्रुटि की गुंजाइश न रहे। उन्होंने यह भी बताया कि जल्द ही विश्वविद्यालय संविदा नियुक्ति की प्रक्रिया प्रारंभ हो गई है। लॉ, आई. एम. एस., इंजीनियरिंग की स्क्रीनिंग व validation की प्रक्रिया पूर्ण हो गई है। भूगोल, pharmaceutical केमिस्ट्री व वाणिज्य विभाग की प्रक्रिया भी प्रगति पर है। विज्ञापित नियमित पदों की स्क्रीनिंग प्रक्रिया भी विभागीय स्तर पर जारी है।


अराधना मौर्या


Next Story
Share it