सत्र 2021-२२ से सीएसजेएमयू कर रहा 10 से 15 न्यू कोर्स की डिजाइन अब प्रोफेशनल बनकर निकलेंगे डिग्री काॅलेज के स्टूडेंट,

सत्र 2021-२२ से  सीएसजेएमयू कर रहा 10 से 15 न्यू कोर्स की डिजाइन अब प्रोफेशनल बनकर निकलेंगे डिग्री काॅलेज के स्टूडेंट,


शाहू जी महाराज विश्वविद्यालय सीएसजेएमयू साल 2021-22 के लिए कुछ ऐसे 10 से 15 न्यू कोर्स डिजाइन करने की व्यवस्था बना रहा है जो कि स्टूडेंट के स्नातक के साथ-साथ रोजगार का रास्ता भी आसान बनाए । विश्वविद्यालय की शिक्षा परिषद व कार्य परिषद मे यह बिंदु कई बार उठाया गया कि हिंदी, अंग्रेजी, इतिहास, भूगोल व समाज शास्त्र समेत अन्य विषयों के सहारे रोजगार का रास्ता बहुत कठिन है|

विश्वविद्यालय पठन पाठन के तरीकों में बदलाव करने की तैयारी कर रहा है। स्नातक के सामान्य पाठ्यक्रम को हुनर के साथ जोडऩे के लिए विश्वविद्यालय मास्टर प्लान बनाने जा रहा है। यह पाठ्यक्रम इस प्रकार डिजाइन किया जाएगा कि तीन वर्ष पढ़ाई करने के बाद छात्रों के हाथ में स्नातक के साथ रोजगार देने वाली ज्ञान की डिग्री भी हो।

ये सब कुछ स्टूडेंट के लिए नई, उमंगे नई तरंगें व नई आशायें लेकर आएगा । बीए, बीएससी व बीकाॅम के विषय के साथ वह कोई ऐसा हुनर सीख सकेंगे जिसमे कोई रूचि हो | कुलपति प्रो.नीलिमा गुप्ता ने बताया कि कोरोना वायरस से बचाव के लिए हुए लॉकडाउन के बाद इसकी सख्त जरूरत महसूस की जा रही है। इस बार बोर्ड ऑफ स्टडीज में कोर्स में बदलाव किए जाने पर चर्चा होगी। उनका प्रयास है कि स्नातक की पढ़ाई में रोजगारपरक कोर्स का भी अंश हो जिससे छात्र डिग्री के बाद आगे पढ़ाई करने के साथ नौकरी भी प्राप्त कर सके। एकेडमिक काउंसिल में पास होने के बाद ऐसे कोर्स बीए, बीएससी व बीकॉम के पाठ्यक्रमों में लागू कर दिए जाएंगे ।

ज्योति जायसवाल

Next Story
Share it