लखनऊ विश्वविद्यालय B.El.Ed में लागू करने जा रहा सेमेस्टर प्रणाली

लखनऊ विश्वविद्यालय B.El.Ed में लागू करने जा रहा सेमेस्टर प्रणाली

लखनऊ विश्वविद्यालय पिछले डेढ़ वर्ष से अपने विभिन्न पाठ्यक्रम में छात्र-हित को ध्यान में रखते हुए एवं नई शिक्षा नीति के दिशा-निर्देशों का पालन करने के लिए परिवर्तन ला रहा है। विश्वविद्यालय ने देश का सबसे पहला और सबसे वृहद चॉइस बेस्ड क्रेडिट सिस्टम भी लागू किया, जिसके तहत छात्र अंतः विभागीय एवं अंतर विभागीय विषयों को लेकर एक ग्लोबल एजुकेशन की तरफ कदम बढ़ा सकें। इसी संदर्भ में 2021 और 2022 के शिक्षण-सत्र में लखनऊ विश्वविद्यालय अपने एक अति महत्वपूर्ण पाठ्यक्रम में बदलाव लाने जा रहा है।

विश्वविद्यालय कुलपति प्रो आलोक कुमार राय के निर्देशानुसार शिक्षा शास्त्र विभाग में चल रहे 4 वर्षीय बीएलएड (B.El.Ed) प्रोग्राम को अब 8 सेमेस्टर में परिवर्तित किया जा रहा है। B.El.Ed प्रोग्राम देश भर से आए हुए उन छात्रों के लिए एक महत्वपूर्ण पाठ्यक्रम है जो एलिमेंट्री एजुकेशन यानी कक्षा आठवीं तक की शिक्षा में अपना योगदान शिक्षक के रूप में देना चाहते हैं। यह प्रोग्राम विश्वविद्यालय के सबसे सफल पाठ्यक्रमों में से एक है।

शिक्षा विभाग के वरिष्ठ अध्यापक प्रोफेसर दिनेश कुमार ने बताया कि नई शिक्षा नीति के दिशा-निर्देशों को ध्यान में रखते हुए और प्रदेश के एलिमेंट्री एजुकेशन में नए शिक्षकों को आधुनिकतम प्रोफेशनल स्किल्स और टीचिंग स्किल्स से समृद्ध करने के लिए पाठ्यक्रम में कुछ महत्वपूर्ण बदलाव लाए जा रहे हैं।

उन्होंने बताया कि वर्ष की जगह समेस्टर में विभाजित होने से पाठ्यक्रम में पढ़ रहे छात्र नए स्किल्स पर ज्यादा ध्यान दे पाएंगे, उन्हें इंटर्नशिप आदि के जरिए असल जिंदगी में इस्तेमाल कर पाएंगे एवं अपने आप को एक वैश्विक पाठ्यक्रम में पढ़कर न केवल प्रदेश के एलिमेंट्री विद्यालयों के लिए बल्कि देशभर के लिए अपने आपको तैयार कर पाएंगे।

विश्वविद्यालय की सीबीसीएस पाठ्यक्रम के अनुसार भी नए बी एल एड के पाठ्यक्रम में अंतः विभागीय, अंतर विभागीय, कोर और वैल्यू ऐडेड कोर्स भी शामिल होंगे जिससे बी एल एड के छात्रों को एक वैश्विक पटल के लिए तैयार किया जा सकेगा।

अराधना मौर्या

Next Story
Share it