डाॅ0 अम्बेडकर सामाजिक समरसता के प्रणेताः प्रो0 आशुतोष सिन्हा

  • whatsapp
  • Telegram
  • koo
डाॅ0 अम्बेडकर सामाजिक समरसता के प्रणेताः प्रो0 आशुतोष सिन्हा



अयोध्या। डाॅ0 राममनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय के अर्थशास्त्र एवं ग्रामीण विकास विभाग में बुधवार सायं बाबासाहेब भीमराव अंबेडकर के महापरिनिर्वाण दिवस पर एक श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में कला एवं मानविकी संकायाध्यक्ष प्रो0 आशुतोष सिन्हा, प्रो0 विनोद श्रीवास्तव एवं माइक्रोबायोलाॅजी के प्रो0 शैलेन्द्र कुमार द्वारा डाॅ0 भीमराव अंबेडकर के चित्र पर माल्यार्पण कर पुष्पांजलि अर्पित की गई। इसके अतिरिक्त छात्र-छात्राओं ने भी श्रद्धासुमन अर्पित किए।

इस अवसर पर कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए प्रो0 आशुतोष सिन्हा ने डॉ. अम्बेडकर को सामाजिक समरसता का प्रणेता बताते हुए उनके द्वारा दलितों, पिछड़ों एवं शोषितों के सामाजिक एवं आर्थिक उत्थान के लिए दिए विशेष योगदान की विस्तृत चर्चा की। उन्होंने बताया की बाबा साहेब जाति, धर्म, वर्ण, लिंग आदि के आधार पर किसी भी प्रकार के विभेदीकरण के सख्त खिलाफ रहे और इसके उन्मूलन के लिए जीवन पर्यंत संघर्ष किया। प्रो0 सिन्हा ने भारतीय संविधान में सामाजिक, आर्थिक एवं राजनैतिक न्याय की व्यवस्था का सम्पूर्ण श्रेय डॉ. अम्बेडकर को देते हुए इसको उनका विशिष्ट योगदान बताया। कार्यक्रम में उन्होंने डॉ. अम्बेडकर को महान अर्थशास्त्री, प्रकांड विद्वान एवं महान राष्ट्रभक्त बताते हुए छात्रों को उनके जीवन से प्रेरणा लेने के साथ राष्ट्रहित में योगदान देने का आह्वान किया।

कार्यक्रम में अर्थशास्त्र एवं ग्रामीण विकास विभाग में प्रो0 विनोद श्रीवास्तव ने छात्रों को डॉ. अम्बेडकर के जीवन से सीख लेने एवं अन्याय के खिलाफ संघर्ष एवं उसका विरोध करने की बात कही। कार्यक्रम में माइक्रोबायोलाॅजी विभाग के प्रो0 शैलेंद्र कुमार ने छात्रों से डॉ बाबासाहेब के जीवन से प्रेरणा लेने की बात कहीं। उन्होंने डाॅ0 अंबेडकर के जीवन वृत्त पर विस्तृत चर्चा की। डॉ0 अलका श्रीवास्तव ने अम्बेडकर के जीवन से संबंधित विभिन्न पहलुओं से परिचित कराया। कार्यक्रम में दिलीप पाल, मानसी सिंह, अहमद फराज सहित अन्य मौजूद रहे।

Next Story
Share it