लखनऊ यूनिवर्सिटी में आयोजित कैंपस प्लेसमेंट ड्राइव में हुआ 26 छात्रों का कैंपस प्लेसमेंट

लखनऊ यूनिवर्सिटी में आयोजित कैंपस प्लेसमेंट ड्राइव में हुआ 26 छात्रों का कैंपस प्लेसमेंट

लखनऊ विश्वविद्यालय के इंजीनियरिंग संकाय के ट्रेंनिंग एंड प्लेसमेंट सेल द्वारा दिनाँक 20, 21 और 23 अक्टूबर को आयोजित कैंपस प्लेसमेंट ड्राइव में 26 छात्रों का कैंपस प्लेसमेंट हुआ| वर्चुसा सॉफ्टवेयर कंपनी मे कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग के एक छात्र राजवीर सिंह का प्लेसमेंट एसोसिएट सॉफ्टवेयर इंजीनियर के पद पर 4.5 लाख प्रतिवर्ष के पैकेज पर हुआ | साथ ही सेडकॉस टेक्नोलॉजी प्राइवेट लिमिटेड कंपनी मे कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग के 19 छात्रों तनवीर हसन, अंशुमान राय, सुजाता यादव, मधुर जयसवाल, वत्सल मिश्रा, अमृता पाण्डेय, अंकित पाण्डेय, अभिषेक ओझा, उत्कर्ष बाजपेई, विकास राठौर, सिद्धार्थ सिंह, शिव प्रकाश यादव, सौरभ कुमार कनौजिया, संकल्प राय, ऋतिक राय, प्रतीक शुक्ला, मो. आतिफ नईम, हर्षित कुमार श्रीवास्तव, भास्कर पंत, इलेक्ट्रॉनिक्स एंड कम्युनिकेशन इंजीनियरिंग के 02 छात्रों अमन कुशवाहा और ऋषभ गुप्ता, बीसीए के 03 छात्रों यश श्रीवास्तव, निलेश कुमार और कृष्णम रस्तोगी और एम.सी.ए के 1 छात्र यश अग्रवाल का चयन भी हुआ। बताते चले कि इन सभी का चयन टेक्निकल एसेसमेंट, कोडिंग राउंड और टेक्निकल इंटरव्यू की प्रक्रिया को पास कर हुआ |इंजीनियरिंग संकाय के डॉ हिमांशु पाण्डेय और सेडकॉस टेक्नोलॉजी की कैंपस रिक्रूटमेंट लीड नमराह खान द्वारा आयोजित कैंपस प्लेसमेंट ड्राइव में कंपनी ने चयनित छात्रों को एसोसिएट सॉफ्टवेयर इंजीनियर के पद पर 4.2 लाख प्रतिवर्ष के पैकेज ऑफर किया है | विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. अलोक राय ने सभी चयनित विद्यार्थियों को बधाई दी।

भाई ने दिया साथ तो खुलती गयी सफलता की राहें : राजवीर सिंह

वर्चुसा सॉफ्टवेयर कंपनी में एसोसिएट सॉफ्टवेयर इंजीनियर के पद पर चयनित राजवीर सिंह बताते है कि उनको यह सफलता सेल्फ स्टडी और संकाय में उनके कोऑर्डिनेटर डॉ हिमांशु पांडेय के सहयोग से प्राप्त हुई। इसके अतिरिक्त उनके बड़े भाई सत्यपाल सिंह के द्वारा कदम कदम पर मिलने वाले मार्गदर्शन और सहयोग की वजह से ही उनके लिए सफलता का मार्ग प्रशस्त हो सका। इसलिए वो अपनी पूरी सफलता का श्रेय अपने कॉर्डिनेटर हिमांशु पांडेय और अपने बड़े भाई सत्यपाल सिंह को देना चाहते है।

Next Story
Share it