सांस्कृतिक संध्या में लोकगीत और भक्ति गीतों ने दर्शकों का मन मोहा

  • whatsapp
  • Telegram
  • koo
सांस्कृतिक संध्या में लोकगीत और भक्ति गीतों ने दर्शकों का मन मोहा



अयोध्या। डाॅ0 राममनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय के 28 वें दीक्षांत समारोह के अवसर पर बुधवार को स्वामी विवेकानंद सभागार में सांस्कृतिक संध्या का आयोजन किया गया। सांस्कृतिक संध्या का शुभारम्भ विश्वविद्यालय की कुलपति प्रो0 प्रतिभा गोयल, मुख्य अतिथि कुलपति प्रो0 मांडवी सिंह, भातखंडे विश्वविद्यालय लखनऊ व विशिष्ट अतिथि राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र के सदस्य विमलेन्द्र मोहन मिश्र, अयोध्या महापौर गिरीशपति त्रिपाठी तथा प्रसिद्ध साहित्यकार एवं लेखक डाॅ0 यतींद्र मिश्र द्वारा माॅ सरस्वती की प्रतिमा पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्ज्वलन के साथ किया।

सांस्कृतिक संध्या का शुभारंभ विश्वविद्यालय की छात्राओं द्वारा गणेश वंदना से किया गया। सांस्कृतिक कार्यक्रमों में प्रमुख रूप से अवधि संस्कार गीत की प्रस्तुति ने भारतीय प्राचीन संस्कारों से दर्शकों को अभिसिंचित किया। कार्यक्रम में शास्त्रीय गायन ढढईया नृत्य और अवधी लोक नृत्य की प्रस्तुति ने सभी दर्शकों को आत्म विभोर किया। श्री राम जन्मोत्सव गीत की प्रस्तुति ने दर्शकों को भक्ति भाव से बांधे रखा। कार्यक्रम का संचालन डॉ0 गीतिका श्रीवास्तव ने किया।

धन्यवाद ज्ञापन अधिष्ठाता छात्र-कल्याण प्रो0 नीलम पाठक द्वारा किया गया। सांस्कृतिक संध्या में कुलपति प्रो0 प्रतिभा गोयल द्वारा अयोध्या जनपद की महिला वृद्धाआश्रम की 20 से अधिक महिलाओं को अंगवस्त्रम एवं अन्य सामग्री भेटकर उनका स्वागत किया। सांस्कृतिक संध्या में पूर्व डिप्टी डायरेक्टर प्रेम भूषण गोयल, महंत राजूदास, कुलसचिव डाॅ0 अंजनी कुमार मिश्र, परीक्षा नियंत्रक उमानाथ, प्रो0 हिमांशु शेखर सिंह, प्रो0 विनोद श्रीवास्तव, प्रो0 शैलेन्द्र वर्मा, डाॅ0 पी0के0 द्विवेदी, उप कुलसचिव दिनेश कुमार मौर्य, डाॅ0 रीमा श्रीवास्तव, डाॅ0 वन्दिता पाण्डेय, इंजीनियर शाम्भवी मुद्रा शुक्ला, डाॅ0 त्रिलोकी यादव, भातखंडे विश्वविद्यालय लखनऊ की टीम सहित बड़ी संख्या में शिक्षक, कर्मचारी एवं छात्र-छात्राएं मौजूद रहे।

Next Story
Share it