चार्ल्स शोभराज की निर्दयता को बखूभी दिखाता " द सरपेंट " नेटफ्लिक्स सीरीज

चार्ल्स शोभराज की निर्दयता को बखूभी दिखाता  द सरपेंट  नेटफ्लिक्स सीरीज

नेटफ्लिक्स पर एक सीरीज आयी है द सरपेंट | ये सीरीज एक खतरनाक सीरियल किलर चार्ल्स शोभराज के जीवन पर आधारित है | वो किस तरह से अपने जाल में विदेशियों को फसाता था और उनकी हत्या कर उनके पास से जो भी कीमती चीजे और ट्रवेल्लेर्स चेक होता था उसको लूट लेता था | ये सातवे दशक का वो खतरनाक हत्यारा था जिसने जाने कितनो की जान ली ये शायद उसको भी न याद हो और पुलिस के पास भी कुछ ही लोगो के सुराग थे |

इस सीरीज में चार्ल्स शोभराज की भूमिका निभाने वाले कलाकार ताहर रहीम ने अपनी अदाकारी से सभी को हैरान कर दिया है | चार्ल्स शोभराज की तरह लगना , उसके हर एक हरकत में अपनी अदाकारी से क्रूरता भरना और बड़ी आसानी से हत्या को भूल पुनः सामान्य व्यवहार का अभिनय कमाल का है | उनकी प्रेमिका मोनिक की भूमिका में जेन कोलमैन ने एक हत्यारे की प्रेमिका और अंत में उससे नफरत करने की भूमिका को बखूबी निभाया है |

चार्ल्स शोभराज ने जिस तरह से थाईलैंड , हांगकांग , इंडिया , पकिस्तान में अपना सिक्का जमा रखा था और खासकर दो शहर बैंकाक और गोवा में उसे बिकनी किलर के रूप में जाना जाता है | चार्ल्स शोभराज ने अपने हथकंडे अपना कर थाईलैंड में कभी भी केस चलने नहीं दिया जिससे वो मौत से बचा रहा , नहीं तो उसको मौत की सजा वहां के कानून के हिसाब से निश्चित थी |

इस हत्यारे को पकड़ने में डच एम्बेसी के एक अधिकारी किपेनबेर्ग का महत्वपूर्ण रोल था | उसने जो सूचना चार्ल्स शोभराज के खिलाफ इकठ्ठा की थी अंत में वो ही उसको नेपाल में पकड़ने के काम आया | हालांकि ये बात आज तक एक रहस्य है कि शोभराज जानते हुए की वो नेपाल में गिरफ्तार हो सकता है वहां न सिर्फ आता है बल्कि अपनी फोटो भी अख़बार में छपने देता है | वहा से भी वो छूटने वाला था की वो पकड़ा गया और आज तक नेपाल के जेल में बंद है |

जब कभी भी उसे थाईलैंड भेजने की बात आती थी तो वो वहा से किसी तरह का अपराध कर अपने को उस देश की जेल में डलवा देता था | खासकर भारत में जब वो तिहाड़ जेल में बंद था और उसे थाईलैंड भेजने की पूरी तैयारी कर ली गयी तो वो जेल से भागने के जुर्म में फिर से गिरफ्तार हो अपने को थाईलैंड भेजे जाने से बच जाता है |

थाईलैंड में उसे मौत की सजा होती और ज्यादातर अपराध उसने वही किया था पर उसके ऊपर थाईलैंड में कोई केस नहीं चल पाया | ये आठ एपिसोड की सीरीज सबसे पहले बीबीसी ने दिखाया और अब नेटफ्लिक्स पर उपलब्ध है |

Next Story
Share it