पढ़िए हेडलाइन और जानिए कैसे बेवकूफ बनाते है पत्रकार

पढ़िए हेडलाइन और जानिए कैसे बेवकूफ बनाते है पत्रकार

ये हेड लाइन है एक प्रतिष्ठित ऑनलाइन पोर्टल द वायर का | इस पोर्टल ने उत्तर प्रदेश के चुनाव पर एक खबर लिखी है | उसको पढने के बाद ऐसा प्रतीत हो रहा है कि इस उपचुनाव में सपा ने मैदान मार लिया है |

पर हकीकत कुछ और है | कुल 11 में से 8 सीट जीतकर भाजपा सत्तर प्रतिशत से ज्यादा सीट जीत गयी है पर जब पत्रकार अपनी कलम से कुछ और लिखना चाहता हो तो ये उदाहरण कमाल का है |

http://thewirehindi.com/99029/uttar-pradesh-bye-election-results-2019-on-11-constituencies/

सपा ने एक सीट बसपा से और एक सीट भाजपा से जीत ली है | पर जो पार्टी उत्तर प्रदेश में वापस आने का सपना देख रही हो क्या उसके लिए ये प्रदर्शन कोई मायने रखता है ? कदापि नहीं | पर बड़े पत्रकारों को आंकड़ो से खेलना आता है इसी लिय वो कालिदास की शादी विद्योत्तमा से करवा पाते है |

फोटो का भी सिलेक्शन ऐसे कि योगी जी को अखिलेश और माया के बीच फंसा दिया है | मायावती का फोटो कही से भी लगाने का तुक नहीं बनता था पर विपक्ष के बीच योगी को फ़साने के लिए visual का सहारा लिया गया |

अब सपा 1 1 में से 3 जिसका मतलब हुआ की वो २८ प्रतिशत से कुछ ज्यादा अंक पायी है और फेल हो गयी है | पर आंकड़ो के बाजीगरी से सपा को महान बताने का प्रयास इस पत्रकार की भाजपा से नाराजगी जाहिर करता है |

पर भैय्या तुम नाराज हो भाजपा से और बदला ले रहे हो अपने पाठको से उनको गलत खबर दे कर | पास को फेल और फेल को पास यही है द वायर का सच |

Next Story
Share it