बाबा साहब भीमराव अंबेडकर का जन्मदिन धूमधाम से मनाया गया। बनेगा एक स्मारक और मिलेगी छात्रवृत्ति: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

बाबा साहब भीमराव अंबेडकर का जन्मदिन धूमधाम से मनाया गया। बनेगा एक स्मारक और मिलेगी छात्रवृत्ति: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

बाबा साहब भीमराव अंबेडकर के जन्मदिन पर लखनऊ स्थित बाबा साहब भीमराव अंबेडकर यूनिवर्सिटी में बोलते हुए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने कहा बाबा साहब के नाम पर एक स्मारक और छात्रों को छात्रवृत्ति की व्यवस्था की जाएगी।




बाबा साहब भीमराव अंबेडकर की जयंती पर आयोजित कार्यक्रम के दौरान बोलते हुए योगी आदित्यनाथ ने कहा की आज जरूरत है कि हम बाबा साहब के आदर्शों को अपनाएं ।

उन्होंने बताया कि किस तरह बाबासाहेब आंबेडकर और जोगेंद्र मंडल दो बड़े नेता थे जिन्होंने वंचित समाज के उत्थान के लिए काम किया ।

जिस समय देश आजाद हुआ उस समय बाबा साहब अंबेडकर भारत के कानून मंत्री बने तो वही जोगेंद्र नाथ मंडल पाकिस्तान के कानून मंत्री बने।



3 साल के अंदर ही मंडल को पाकि

स्तान छोड़कर भागना पड़ा और भारत में गुमनामी की दौर में चले गए।

मुख्यमंत्री ने बताया कि आज हम बाबा साहब को इतना सम्मान कर रहे हैं और उनके नाम पर सैकड़ों की संख्या में विश्वविद्यालय और विद्यालय खुले हुए हैं वही जोगेंद्र मंडल का नाम कोई नहीं जानता।

उन्होंने बताया कि इन दोनों के बीच सिर्फ एक अंतर था बाबा साहब ने कहा था कि वह जन्म से भारतीय हैं और मरते समय भी भारतीय रहेंगे।

संगोष्ठी में बोलते हुए उपमुख्यमंत्री बृजेश पाठक में भी बाबा साहब के व्यक्तित्व और कृतित्व पर चर्चा की और बताया किस तरह से बाबा साहब के संदेश आज के समय में लोगों के काम आ सकते हैं।




उत्तर प्रदेश के सांस्कृतिक मंत्री जय वीर सिंह जी ने बताया कि जो भी कार्यक्रम किया जा रहा है वह संस्कृतिक विभाग के सहयोग से किया जा रहा है उन्होंने बताया कि बाबा साहब भीमराव अंबेडकर विश्वविद्यालय मे एक प्रदर्शनी का भी आयोजन किया गया है जहां पर बाबा साहब से संबंधित वस्तुओं का प्रदर्शन किया गया है।

अपनी पुलिस की नौकरी को छोड़ कर उत्तर प्रदेश सरकार में मंत्री बने असीम अरुण ने अपने जीवन के उद्देश्य के बारे में लोगों से चर्चा की और कहा कि अगर वह लोगों के काम आ सके तो देश की एक बड़ी सेवा कर पाएंगे।

उन्होंने बताया कि किस तरह से पुलिस में रहते हुए हो उन्होंने लोगों की मदद की पर लंबे समय तक के लिए होने वाले बदलाव के लिए उनका राजनीति में आना जरूरी था।

इसके पहले विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर संजय सिंह में अतिथियों के सामने विश्वविद्यालय द्वारा किए जा रहे हैं विभिन्न कार्यों के बारे में विस्तार से बताया और उन्होंने कहा कि माननीय मुख्यमंत्री जी की लगातार सहायता इस विश्वविद्यालय को मिल रही है और आगे भी हम आशा करते हैं कि वह जारी रहेगी।




इस कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने बोधी पार्क में महात्मा बुद्ध की मूर्ति का अनावरण किया और विभिन्न कार्यों में पदक पाए हुए छात्र छात्राओं को सम्मानित भी किया।

अंबेडकर जयंती एवं विश्वविद्यालय के स्थापना दिवस कार्यक्रम में कुलाधिपति प्रकाश चंद्र बरतूनिया के अलावा लालजी निर्मल भी उपस्थित रहे।

इस अवसर पर अंबेडकर जयंती मनाने के लिए गठित की गई विभिन्न कमेटियों के सदस्य भी उपस्थित रहे।

इस कमेटी के चेयरमैन प्रोफेसर के एल महावर, प्रोफेसर सुनीता मिश्रा जिन्होंने स्टेज मैनेजमेंट संभाल रखा था के अलावा प्रोफ़ेसर गोविंद जी पांडे, प्रोफेसर सर्वेश सिंह, राज शरण साही, प्रोफ़ेसर एलसी मलैया, के अलावा भारी संख्या में शिक्षक और विद्यार्थी मौजूद थे।

कार्यक्रम का संचालन डॉ प्रीति चौधरी ने किया।







Next Story
Share it