इसरो ने प्रक्षेपित किया कार्टोसेट -3 उसके साथ और भी कई देशों की सेटेलाइट भेजे

इसरो ने प्रक्षेपित किया कार्टोसेट -3 उसके साथ और भी कई देशों की सेटेलाइट भेजे

इसरो ने कार्टोसेट - 3 तीसरी पीढ़ी का उन्नत सैटेलाइट अंतरिक्ष में भेजा है जो पृथ्वी पर 1 फीट से भी कम ऊंचाई तक की स्पष्ट तस्वीर ले सकता है अपनी इस खूबी के चलते वह सेना के लिए काफी उपयोगी साबित होगा इसकी मदद से सेना दुश्मन देशों के नापाक इरादों पर कड़ी नजर रख पाएगी।

कार्टोसेट 3 करीब 5 साल तक काम करेगी लगभग 16 किलोग्राम के कांटों से हटने शानदार तरीके से अंतरिक्ष में प्रवेश किया और अपनी कक्षा में स्थापित हुआ इससे शहरी क्षेत्रों में संसाधनों की मैपिंग हो सकती है तटवर्ती क्षेत्रों में काफी काम आ सकता है।

इसरो के बेंगलुरु स्थित टेलिमेटरी ट्रैकिंग एंड कमांड नेटवर्क लाइट को अपने नियंत्रण में ले लिया है सूत्रों की मानें तो अब तक जितने सेटलाइट बने हैं इनमें कांटों से फ्री में सबसे ज्यादा रिजर्वेशन वाला कैमरा लगा हुआ है और स्पष्ट फोटो लेने की इसकी क्षमता और पृथ्वी के नजदीक निगरानी की क्षमता को बढ़ा देगा।

सेटेलाइट धरती से करीब 500 किलोमीटर दूर अपनी कक्षा में स्थापित है अगले साल भी इसरो इसी तरह के प्रक्षेपण करने वाला है अब इसरो का जो प्रक्षेपण यान है उसकी साख पूरे विश्व में बन गई है और विश्व भर के देश शुरू से अपने सेटेलाइट का प्रक्षेपण अंतरिक्ष में करवा रहे हैं।

Next Story
Share it