Top

कमलेश तिवारी के हत्यारो को गुजरात एटीएस ने धर दबोचा

कमलेश तिवारी के हत्यारो को गुजरात एटीएस ने धर दबोचा

Aarti: बचपन एक्सप्रेस

कमलेश के हत्यारे गिरफ्तार: आखिरकार गुजरात एटीएस को कमलेश हत्याकांड में सफलता मिल ही गयी । हिन्दूवादी नेता कमलेश तिवारी के हत्यारे अशफाक और मोईनुद्दीन को गुजरात एटीएस ने दोनों को गुजरात - राजस्थान सीमा पर शमलाजी के पास से गिरफ्तार कर लिया है ।

पूछताछ के दौरान दोनों ने हत्या का जुर्म स्वीकार कर लिया है । इन दोनों हत्यारों पर एक दिन पहले ही डीजीपी ओ पी सिंह ने ढाई - ढाई लाख रूपये इनाम की घोषणा की थी । 18अक्टूबर को लखनऊ के खुर्शेदबाग में दिन दहाड़े कमलेश तिवारी की हत्या कर दी गयी थी ।

घटना को अंजाम देने के बाद से दोनों हत्यारे लखनऊ,शाहजहांपुर ,पीलीभीत बरेली व अन्य स्थानों पर छिपते फिर रहे थे ,चार दिन तक लगातार पीछा करते रहने के बावजूद यूपी पुलिस को निराशा हाथ लगी गुजरात एटीएस के डीआईजी हिमांशु शुक्ला के नेतृत्व में काम कर रही टीम ने कमलेश तिवारी के हत्यारों को ग्रीन व्यू अपार्टमेंट सूरत निवासी अशफाक हुसैन जाकिर हुसैन शेख और लोग का कानूनी सूरत निवासी मोइनुद्दीन खुर्शीद पठान को पकड़ा है|

मोइनुद्दीन डिलीवरी ब्वॉय का काम करता है और अशफाक मेडिकल रिप्रेजेंटेटिव है बताया जाता है कि दोनों आरोपितों के पासरुपए खत्म हो गए थे इसलिए उन्होंने अपने परिवार वालों से संपर्क किया था|

गुजरात पुलिस ने सर्विलांस के जरिए मिले सुराग को आधार बनाकर अपना जाल बिछाया और उन्हें धर दबोचा दोनों अपराधी एक दिन पहले ही नेपाल से शाहजहांपुर पहुंचे थे और गुजरात भागने की तैयारी में थेयूपी पुलिस की एक टीम गुजरात रवाना की जा रही है दोनों को ट्रांजिट रिमांड पर लखनऊ लाया जाएगा|

डीजीपी ओपी सिंह के अनुसार घटना के बाद से पुलिस लगातार दोनों हत्यारोपी तो पर दबाव बनाए हुए थे नतीजतन वे गुजरात में पकड़े गए। कमलेश तिवारी हत्याकांड के साजिशकर्ता राशिद पठान मौलाना मोहसीन शेख और फैजान को गुजरात एटीएस ने 19 अक्टूबर को पकड़कर यूपी पुलिस के हवाले कर दिया था दोनों हत्यारों के पूछताछ में अब कई राज सामने आएंगे ।

Next Story
Share it