Top

मीडिया को खेमों में बटने की जरुरत नहीं है

मीडिया को खेमों में बटने की जरुरत नहीं है

जी न्यूज़ की खबर के बाद आम आदमी पार्टी के नेता संजय सिंह का ट्विट भले ही एक नेता और पत्रकार के बीच का मसला है पर पत्रकारिता जगत के लोगो को ये ध्यान रखना होगा की लोकतंत्र में जनता सच देखना चाहती है |

https://twitter.com/SanjayAzadSln/status/1226352831336083457

भुलावे और भटकाव से देश का भला नहीं होने वाला | अगर राजनेताओ की तरह पत्रकार जो ज्यादातर खेमो में बट चुका है , अगर देश की सलामती चाहता है तो उसे वापस अपने पत्रकारिता के लक्ष्य की ओर ध्यान देने की जरुरत है |

मदन मोहन मालवीय जैसे पत्रकारों ने अपने मालिको की बात नहीं सुनी और पत्रकारिता के पेशे को जिन्दा रखा जिससे जनता की आवाज सत्ता के गलियारों में गूंजती रहे | पर आज का पत्रकार सत्ता के करीब और जनता से दूर होता जा रहा है |

धन मायने रखता है पर उतना ही जिससे जीवन यापन वो सके ये मानना है हमारे धर्म का और इस धर्म की कामना का सम्मान अगर पत्रकार और शिक्षक न कर पाए तो उन्हें ये पेशा छोड़ देना चाहिए |

Next Story
Share it