Top

बच्चों के भविष्य के साथ खिलवाड़ करते इन शिक्षकों को किसी का कोई डर,शर्म नहीं, सिर्फ तनख्वाह से मतलब है ?

बच्चों के भविष्य के साथ खिलवाड़ करते इन शिक्षकों को किसी का कोई डर,शर्म नहीं, सिर्फ तनख्वाह से मतलब है ?

कानपुर देहात : सिकन्दरा तहसील क्षेत्र के विकास खंड राजपुर की ग्राम पंचायत गोपालपुर प्राथमिक विद्यालय मे ऐसा ही नजारा देखने को मिला। जहां पर केवल 26 बच्चे पंजीकृत है। और उन्हे पढ़ाने के लिए प्रधानाध्यापक,2 सहायक अध्यापक के अलावा दो महिला शिक्षा मित्रो को तैनात किया गया है।

लेकिन उसके बावजूद इन 26 छात्र छात्राओं को नियमित पढ़ाने वाला कोई नहीं है जब मन होता है विद्यालय आते है हाजिरी लगाई और चलते बने इन्हें इन बच्चों के भविष्य से कोई लेना देना नहीं है ! उपस्थित एक महिला शिक्षा मित्र ने नाम न बताने की शर्त पर बताया कि प्रधानाध्यापक एक माह के मेडिकल अवकाश पर है

जबकि सहायक अध्यापक सोमवार को स्कूल तो आये थे। और 11 बजे ही बिना बताए ही चले गए। उपस्थित रजिस्टर मे उन्होंने कोई उल्लेख नही किया। चार शिक्षक और प्रधानाध्यापक के बावजूद भी शिक्षा का स्तर इतना असंतोष जनक है कि कक्षा चार के छात्रो को यह भी नही पता है कि उनके राज्य का मुख्यमन्त्री कौन है

इतना ही नही शिक्षा के प्रति शिक्षक कितना जागरूक है इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता। ऐसा ही नजारा उक्त विकास खंड ग्राम पंचायत जमुआ की मडैया के प्राथमिक विद्यालय मे देखने को मिला जहां 8:20 तक कोई शिक्षक स्कूल नही पहुंचा था। बच्चे स्कूल परिसर मे धमा चौकड़ी मचाते रहे कुछ बच्चे घरो को लौट गए।

Next Story
Share it