पांचवें चरण की बैठक भी बेनतीजे वाली - किसानों ने कहा कि कानून में संशोधन नहीं कानून को रद्द करवाना चाहती है पूरी टोली

पांचवें चरण की बैठक भी बेनतीजे वाली - किसानों ने कहा कि कानून में संशोधन नहीं कानून को रद्द करवाना चाहती है पूरी टोली


आपको बता दें कि आज किसानों के साथ पांचवे चरण की बैठक हुई जिसके बाद भी कोई नतीजा नहीं निकल पा रहा है। पांचवें चरण की बैठक में भी बेनतीजे वाला ही परिणाम आया है।

आज गुरुवार को किसानों के साथ बैठक से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर समेत गृह मंत्री अमित शाह, राजनाथ सिंह और पीयूष गोयल के साथ बैठक की इस बैठक को अहम बताया जा रहा है। परंतु उसके बाद भी किसानों के साथ बैठक में भी कोई नतीजा नहीं निकल सका किसानों ने सरकार से कहा कि "हम किसान भाई नए कानून में कोई संशोधन नहीं बल्कि कानून को भी रद्द करना चाहते हैं जिसके लिए हम विशेष संसद सत्र की मांग कर रहे हैं।"

किसान किसी भी हाल में झुकने को तैयार नहीं है तथा सरकार से उनकी मांगों को जल्दी पूरा करने की अपील की है। साथ ही उन्होंने कहा है कि यदि उनकी मांगों को पूरा न किया गया तो 8 दिसंबर को पूरा भारत बंद किया जाएगा। इसके बाद उन्होंने टोल प्लाजाओ पर भी कब्जा करने का ऐलान किया है।

सेंटर दिल्ली में हो रहा है किसानों के आंदोलन का कोई निर्णय आज भी नहीं निकल पाया है। जिसके बाद 9 दिसंबर को फिर सरकार के साथ किसानों की बैठक होगी।

किसानों ने कहा - अगर सरकार चाहती है कि हम सड़कों पर रहे तो इससे हमें कोई समस्या नहीं होगी।

साथ ही उन्होंने कहा कि हम कई दिनों से सड़कों पर हैं और अपने साथ कम से कम साल भर का सामग्री भी लाए हैं हमें कोई दिक्कत नहीं होगी यदि हम सड़कों पर कुछ और महीने , दिन या साल रुक जाए। अगर सरकार चाहती है कि हम सड़कों पर रहे तो हमें इससे कोई समस्या नहीं होगी। परंतु हम हिंसा का रास्ता कभी नहीं अपनाएंगे। और इंटेलिजेंस ब्यूरो आपको बताता रहेगा कि हम अपने स्थल पर क्या कर रहे हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि इस कानून से सरकार को फायदा होगा किसानों को नहीं।

इसके साथ ही साथ सरकार भी समस्याओं से गिरी हुई है ।सरकार ने किसानों से अपील की है कि वह बच्चे और महिलाओं को घर भेज दे।

कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने किसानों से कहा कि वह वरिष्ठ नागरिक , महिलाएं व बच्चों को घर भेज दे।

अगली बैठक 9 नवंबर को तय की गई है।

नेहा शाह

Next Story
Share it