केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री कैलाश चौधरी बोले - असली किसान कर रहे खेतों में काम, कांग्रेस ने के किसानों को भड़काने की कोशिश

केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री कैलाश चौधरी बोले - असली किसान कर रहे खेतों में काम, कांग्रेस ने के किसानों को भड़काने की कोशिश


देश की राजधानी दिल्ली में चल रहा है कई दिनों से प्रदर्शन के बाद भी राजनीतिक गतिविधियां रुकने का नाम नहीं ले रही। आरोप-प्रत्यारोप बढ़ते ही जा रहे हैं। इसी बीच केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री कैलाश चौधरी ने बड़ा बयान जारी करते हुए कहा कि "देश का किसान इस बिल के समर्थन में है तथा वह इस बिल के बाद शांतिपूर्ण अपने खेतों में काम कर रहे हैं परंतु कांग्रेस और विपक्ष के लोग किसानों को भड़काने में लगे हुए हैं।"

उन्होंने कहा कि देश के किसानों को भली-भांति पता है कि यह बिल उनके लिए कितना लाभकारी होगा इसीलिए वह चुपचाप अपने खेतों में काम कर रहे हैं। और मैं अपने सभी किसान भाइयों से कहना चाहूंगा कि मोदी सरकार हमेशा से किसानों के पक्ष में रही है और यदि उन्हें इस बिल पर थोड़ा भी संदेह है तो वह अपने संदेह को बेझिझक प्रकट कर सकते हैं।

इसके बाद उन्होंने कहा कि मुझे किसानों पर और मोदी सरकार पर निसंदेह है विश्वास है। मुझे विश्वास है कि किसान भाई कभी ऐसा काम नहीं करेंगे जिससे देश को परेशानी हो। अपने संबोधन में उन्होंने कहा कि "मैं किसान भाइयों से आग्रह करना चाहूंगा कि वह थोड़ा सा पीछे हट जाएं तथा भारत बंद ना करें क्योंकि भारत बंद होने से देश को गंभीर आर्थिक परेशानी का सामना करना पड़ता है।"

उन्होंने कहा कि 3 कृषि कानून किसानों को आजादी देने का कानून है। और मैं यह कह सकता हूं कि देश का किसान इस कानून के आने के बाद बहुत खुश हैं।

परंतु कांग्रेस और विपक्ष किसानों को भड़काने की कोशिश कर रही है तथा आग में घी डालने जैसा काम कर रही है।

आपको बता दें कि जिस किसी कानून के लिए कांग्रेस अपना समर्थन किसानों को दे रही है वही कृषि कानून कांग्रेस स्वयं 2008 में लाना चाहती थी।

सभी बड़े राजनेताओं ने प्रस्तावित कृषि कानून के विरोध में अपनी अपनी आवाज उठाई है। इसके बाद केंद्र सरकार ने भी सब के आरोपों का जवाब देते हुए कहा है कि "जैसे पहले एमएसपी बनी रहती थी वैसे ही इस कानून में भी किसानों के एमएसपी बनी रहेगी और सरकार इसे लिखित रूप से देने को भी तैयार है।"

नेहा शाह

Next Story
Share it