प्रधानमंत्री ने कहा भारत पर्यावरण क्षति रोकने में अहम भूमिका अदा करेगा

प्रधानमंत्री ने कहा भारत पर्यावरण क्षति रोकने में अहम भूमिका अदा करेगा



प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा भारत पर्यावरण की सुरक्षा को लेकर प्रतिबद्ध है । भारत जलवायु परिवर्तन को रोकने के लिए पेरिस जलवायु समझौते में किए गए प्रावधानों के अनुसार कार्य कर रहा है, जिसका परिणाम जल्द ही दिखने लगेगा। भारत न सिर्फ पर्यावरण की छति को रोकेगा बल्कि पर्यावरण को शुद्ध भी बनाएगा। प्रधानमंत्री ने कहा भारत नई क्षमताओं का निर्माण नहीं करेगा बल्कि वैश्विक अच्छाइयों का उन्हें वाहक भी बनाएगा।

ऑनलाइन माध्यम से आयोजित जलवायु अनुकूलन शिखर सम्मेलन में उन्होंने कहा जलवायु परिवर्तन में बदलाव के अनुकूल बदलने के लिए हमारी जीवन शैली में बदलाव होना जरूरी है। इसी भावना से विश्व को आगे बढ़ना चाहिए। भारत ने 2030 तक 450 गीगा वाट अक्षय ऊर्जा के उत्पादन का लक्ष्य रखा है। और एलईडी बल्ब के इस्तेमाल से प्रतिवर्ष 3.2 करोड़ टन कार्बन डाइऑक्साइड का उत्सर्जन कम हो रहा है।

उन्होंने कहा भारत 2030 तक 2.6 लाख हेक्टेयर खराब जमीन को दुरुस्त करने जा रहा है जहां पर सौर ऊर्जा के प्लांट लगाए जाएंगे और सौर ऊर्जा से बिजली का उत्पादन किया जाएगा। और 8 करोड़ ग्रामीण घरों को स्वच्छ रसोई ईंधन मुहैया कराया जा रहा है, तथा 6.4 करोड़ घरों को पानी की पाइप लाइन उपलब्ध कराने जा रहा है ।भारत पूर्ण रूप से सतत एवं नवीकरणीय ऊर्जा स्त्रोतों के उत्पादन की तरफ बढ़ रहा है।

Next Story
Share it