महामारी के दौर में भी भारत ने अन्य देशों से मजबूत किये रिश्ते

महामारी के दौर में भी भारत ने अन्य देशों से मजबूत किये रिश्ते


भारत के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने 29 जनवरी दिन शुक्रवार को कहा कि कोविड -19 की बाधाओं के बावजूद भारत ने सभी सहयोगी देशों से अपने संपर्कों और सम्बन्धों को और मजबूत बनाया है तथा वसुधैव कुटुम्बकम की भावना को चरितार्थ करते हुए कोरोना काल में अपनी वैश्विक जिम्मेदारियां निभायी है। कोविंद ने संसद की बैठक में दोनों सदनों की संयुक्त बैठक को संबोधित करते हुए कहा,'' भारत अपनी वैश्विक जिम्मेदारियों को इस कोरोनाकाल में भी जिस गंभीरता से निभा रहा है, उसे आज दुनिया देख रही है। '' भारत अपनी वैश्विक जिम्मेदारियों को इस कोरोनाकाल में भी जिस गंभीरता से निभा रहा है, उसे आज दुनिया देख रही है।'' साथ ही वे बोले कि ''वसुधैव कुटुम्बकम्'' की भावना को चरितार्थ करते हुए भारत ने देश की घरेलू जरूरतों को पूरा करने के साथ ही 150 से अधिक देशों को जरूरी दवाइयों की आपूर्ति की।

इतना ही नहीं कोविंद ने ये भी कहा कि '' भारत, वैश्विक स्तर पर वैक्सीन की उपलब्धता को सुनिश्चित करवाने के लिए प्रतिबद्ध है।''साथ ही वे बोले यह देश का गौरव बढ़ाने वाली बात है कि वंदे भारत मिशन की सराहना हो रही है जो दुनिया में इस प्रकार का सबसे बड़ा अभियान है। साथ ही कोविंद ने देशों के साथ संबंध बेहतर बनाने का जिक्र करते हुए कोविंद ने कहा कि कोविड-19 की बाधाओं के बावजूद भारत ने सभी साथी देशों से अपने संपर्कों और सम्बन्धों को और मजबूत बनाया है।

अदिती गुप्ता

Next Story
Share it