पावन वेला में खुले गंगोत्री धाम के कपाट, श्रद्धालु ऑनलाइन दर्शन और ऑडियो के माध्यम से कर सकेंगे पूजा अर्चना...

पावन वेला में खुले गंगोत्री धाम के कपाट, श्रद्धालु ऑनलाइन दर्शन और ऑडियो के माध्यम से कर सकेंगे पूजा अर्चना...



यमुनोत्री धाम के कपाट खुलने के साथ ही इस वर्ष की चारधाम यात्रा आरंभ हो गयी है. छह माह के शीतकालीन अवकाश के बाद आज सुबह गंगोत्री धाम के कपाट मिथुन लग्न में सुबह 07:30 पर पूरे विधि-विधान से साथ खुल गए हैं. केदारनाथ मंदिर के कपाट 17 मई को और बदरीनाथ के कपाट 18 मई को खुलेंगे.

गंगोत्री धाम के कपाट खुलते ही मां गंगा का परिसर जयकारों से गूंज उठा. खास बात यह रही कि गंगोत्री के पंडा पुरोहितों ने पहली पूजा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और प्रदेश के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत के नाम से की और भेंट भी चढ़ाई. पुरोहितों ने देश और दुनिया को कोरोना महामारी से निजात दिलाने के लिए विशेष पाठ का आयोजन किया.

बता दें कि शुक्रवार को शीतकालीन प्रवास मुखबा गांव से मां गंगा की भोग मूर्ति को डोली यात्रा के साथ गंगोत्री धाम के लिए रवाना किया गया था. डोली यात्रा भैरोंघाटी स्थित प्राचीन भैरव मंदिर में रात्रि विश्राम के पश्चात आज शनिवार को तड़के गंगोत्री पहुंची. जिसके बाद सुबह साढ़े सात बजे गंगोत्री मंदिर के कपाट खुले. भक्तों को घर बैठे चार धाम यात्रा के दर्शन कराने के मामले में पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने बताया कि उन्होंने मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत के साथ भी बातचीत की है.

जहां सीएम रावत के निर्देशानुसार यमुनोत्री, गंगोत्री, केदारनाथ और बद्रीनाथ के ऑनलाइन वर्चुअल दर्शन की व्यवस्था करने से चारों धामों के दर्शन के इच्छुक श्रद्धालु मंदिर के गर्भगृह को छोड़कर बाकी मंदिर परिसर के ऑनलाइन दर्शन और ऑडियो के माध्यम से पूजा अर्चना कर सकेंगे.

अराधना मौर्या

Next Story
Share it